Wed. Apr 24th, 2024

ज़िला सोलन के अटल शिक्षा कुञ्ज स्थित प्रसिद्ध आईईसी यूनिवर्सिटी की एनएसएस इकाई ने इलेक्ट्रॉनिक अपशिष्ट वस्तुओं की समस्याओं पर ध्यान आकर्षित करने के लिए एचपी राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के दिशानिर्देशों के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं के कचरे के संग्रहण और जागरूकता अभियान के तहत एक कार्यशाला का आयोजन किया। इस कार्यक्रम का मुख्य उदेश्य छात्रों को पर्यावरण की सुरक्षा हेतु जागरूक करना और इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं के कचरे के सही निपटारे के बारे में विस्तार से समझाना था। कार्यक्रम में कई छात्रों और वक्ताओं ने इस ज्वलंत मुद्दे पर अपने विचार विस्तार से प्रकट किये। उन्होंने ई-कचरा प्रबंधन की जरूरत पर अपनी राय दी और अपशिष्ट प्रबंधन के माध्यम से ई-कचरे का उचित निपटान पर ज़ोर दिया।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो० अशोक पुरी ने अपने सन्देश में मुख्य पर्यावरण इंजीनियर, बद्दी श्री प्रवीण गुप्ता जी और उनकी सक्रिय टीम के प्रयासों की सराहना की और कहा कि आज ई-कचरा पर्यावरण प्रदूषण फैलाने का सबसे बड़ा कारण बनता जा रहा है। इसलिए, हमें अपने समाज के सामने आने वाली इन बड़ी चुनौतियों के बारे में अधिक से अधिक जागरूक होना चाहिए।

कार्यक्रम के अंत में छात्रों ने इलेक्ट्रॉनिक अपशिष्ट से पर्यावरण को हो रहे नुकसान से समाज को बचाने की नैतिक शपथ भी ली।

———————–