Thu. May 30th, 2024

उपायुक्त किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने आज बागवानी विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि सरकार द्वारा बागवानों की आर्थिकी सुदृढ करने के लिए आरम्भ की गई विभिन्न योजनाओ व कार्यक्रमों का लाभ उठाने के लिए बागवानांे को पे्ररित करें ताकि बागवानांे तक इन योजनाआंे का लाभ पहंुच सके। उन्होनें कहा कि किन्नौर जिला सेब व ड्राई फ्रूट के लिए देश भर मे जाना जाता है तथा जिले में 12633.86 हैक्टेयर क्षेत्र में बागवानी की जा रही है। जिले की आर्थिकी में सेब का 403.31 करोड रूपये का योदान हैं । उन्होनें कहा कि इस वित्त वर्ष के दौरान जिले में बागवानी की विभिन्न योजनाओं के तहत 2 करोड 76 लाख रूपये का प्रावधान किया गया है।
उन्होनें विभाग के अधिकारीयों को निर्देश दिए की विभिन्न योजनाओं के तहत आंबटित बजट का सही प्रकार से उपयोग करें ताकि अधिक से अधिक बागवान लाभान्वित हो सके।
उन्होने कहा कि विशेष केन्द्रीय सहायता के तहत बागवानों को सिंचाई के लिए एच0डी0पी0, पाईप इत्यादि की खरीद के लिए 16.93 लाख रू0 के बजट का प्रावधान किया गया है। जबकि बागवानों की मांग पर इस वर्ष उन्नत किस्म के सेब व अन्य फलदार पौधे के लिए 1.80 लाख के बजट का प्रावधान किया गया है।
बैठक में बागवानी विभाग के जल भंडारण टैंक के निमार्ण व प्रूनिंग कैंची ग्राफटीगं चाकू व अन्य के लिए अतिरिक्त बजट की मांग की गई। उपायुक्त ने इस के लिए बजट उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।
उन्होनें कहा कि बागवानों को उन्नत किस्म के सेब व अन्य फलदार पौधे उपलब्ध करवाए जाएं। उन्होनें जिले में मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के तहत अधिक से अधिक बागवानों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होनें कहा कि जिले में मौन पालन की अपार सम्भावना है। उन्होनें कहा कि इस वित्त वर्ष में योजना के तहत 15 लाख रू0 का प्रावधान किया गया है जिसे मांग के आधार पर और अधिक बढाया जाएगा।
उन्होनें कहा कि मुख्य मंत्री खुम्ब विकास योजना को भी अधिक से अधिक किसानों बागवानों तक पहुचानें का प्रयास करंे तथा इसके लिए किसानों को प्रशिक्षण भी दिलवाया जाए। उन्होनें कहा कि इस वित वर्ष मंे मुख्यमंत्री खुम्ब योजना के तहत 7 लाख रू0 के बजट का प्रावधान किया गया है। उन्होनेें कहा कि एकीकृत बागवानी विकास मिशन के तहत इस वर्ष 30 लाख रू0 का बजट स्वीकृत किया गया है।
उपनिदेशक बागवानी चन्द्र मोहन बाली ने कहा कि विभाग द्वारा बागवानों को विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाने के लिए पे्ररित किया जा रहा है। बागवानों को विभाग द्वारा समय-समय पर प्रशिक्षण दिया जाता है ताकि बागवान नई तकनीक को अपना कर उत्पादन बढा सके।
बैठक में आई0टी0डी0पी0 विभाग के परियोजना अधिकारी विद्याधर व बागवानी विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।
Attachments area