Tue. Apr 23rd, 2024

उपायुक्त किन्नौर हेमराज बैरवा की अध्यक्षता में आज यहां जिला पर्यावरण योजना व ठोस कचरा प्रबंधन को लेकर एक बैठक आयोजित की गई। बैठक में उपायुक्त ने रिकांग पिओ स्थित विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (साडा) को निर्देश दिए की हर घर से अलग-अलग सूखा व गीला कचरा एकत्रित किया जाए ताकि इसका सही ढंग से निपटान सुनिश्चित किया जा सके।
उन्होंने साडा को निर्देश दिए कि हर घर से एक दिन सूखा कचरा तथा दूसरे दिन गीला कचरा एकत्रित किया जाए। उन्होंने कहा कि साडा क्षेत्र में जहां पूर्व में डस्टबीन स्थापित किए गए थे उन स्थलों का सौंदर्यकरण किया जाए। उन्होंने प्लास्टिक कचरे का उपयोग सड़कों के निर्माण में करने के लिए लोक निर्माण विभाग को योजना तैयार करने को भी कहा ताकि जिले से निकलने वाले प्लास्टिक का प्रयोग सड़क निर्माण में किया जा सके। उन्होंने निर्माण कार्य से निकलने वाले कचरे के निपटान के लिए डम्पिंग साइट चिन्हित करने के भी निर्देश दिए।
उपायुक्त ने सिंचाई एवं जन-स्वास्थ्य विभाग को जिले में लगाए गए हैंड-पम्पों की नियमित रूप से जांच सुनिश्चित बनाने के भी निर्देश दिए तथा ग्रामीण विकास एवं वन विभाग को रेन-वाॅटर हारवैस्टिंग, चैक-डैम व पौध-रोपण को बढ़ावा देने पर बल दिया।
बैठक में सहायक आयुक्त मुनीष कुमार शर्मा, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय रामपुर की सहायक पर्यावरण अभियन्ता (ए.ई.ई.) अंजू नेगी व विभिन्न विभागाध्यक्ष उपस्थित थे।