Fri. Jun 14th, 2024

शिमला, 29 सितम्बर
उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने आज बचत भवन में आयोजित बैकों की जिला स्तरीय समीक्षा एवं जिला स्तरीय परामर्श समिति की बैठक की अध्यक्षता की।
उन्होंने बताया कि कृषि क्षेत्र मंे किसानों को विभिन्न बैंकों द्वारा जून तिमाही तक 642 करोड़ रुपये के ऋण वितरित किए गए वहीं प्राथमिकता क्षेत्र में 579 करोड़ रुपये के ऋण जून तिमाही तक बांटे गए। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम के तहत 59 करोड़ रुपये, शिक्षा क्षेत्र के तहत 70 लाख रुपये तथा आवासीय क्षेत्र के तहत 93 लाख रुपये के ऋण वितरित किए गए।
उन्होंने बैंक अधिकारियों को सरकारी योजनाओं के तहत ज्यादा से ज्यादा ऋण उपलब्ध करवाने के आदेश दिए ताकि कोरोना काल में जिले के नागरिक को योजनाओं के माध्यम से लाभान्वित किया जा सके वहीं बैंक अधिकारियों को सरकारी योजनाओं के बारे में लोगों को आवश्यक जानकारी उपलब्ध करवाने की भी अपील की।
उन्होंने मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत आवेदन करने वाले आवेदकों को ऋण वितरण करने बारे सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि कोविड काल के दौर में सभी बैंक अधिकारियों को ईएमआई ब्याज दर पर ध्यान देने की आवश्यकता है।
उन्होंने बताया कि बैंक न केवल अपने लाभ के मकसद से कार्य करे अपितु सामाजिक उत्तरदायित्व का निर्वहन भी करें। उन्होंने बताया कि कोविड काल के दौरान बाहर से आए युवाआंे के प्रति और अधिक संवेदनशील होने की आवश्यकता है तथा बेरोजगार युवाओं को ऋण दिलाकर स्वरोजगार प्रदान करने की कोशिश करें।
इस अवसर पर यूको बैंक के एलडीएम अशोक कुमार सिंह, एजीएम आरबीआई अवनेश्वर सिंह, नाबार्ड बैंक से एजीएम एवं विभिन्न बैंकों के अधिकारीगण एवं कर्मचारीगण उपस्थित थे।