Sat. May 25th, 2024

शिमला, 05 मार्च
उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने आज यहां अपने कार्यालय कक्ष में जिला में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के टीकाकरण प्रक्रिया के संदर्भ में बैठक ली।
इस अवसर पर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों से गहनता से विचार-विमर्श कर उनसे सीधा संवाद स्थापित किया और उनके सुझाव आमंत्रित किए।
उन्होंने महामारी की रोकथाम के लिए विशेषकर फ्रंट लाईन स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस, अर्ध सैनिक बल, राजस्व कर्मचारियों तथा वरिष्ठ नागरिकों को प्राथमिकता प्रदान करने पर बल दिया ताकि असाध्य रोगों से पीड़ित लोगों को राहत मिल सके।
उपायुक्त ने कोरोना संक्रमण के संदर्भ में उचित प्रचार-प्रसार एवं जन संचार के महत्व पर बल दिया ताकि जिला एवं खण्ड स्तर पर लोगों को जागरूक किया जा सके तथा पंचायत जनप्रतिनिधियों से आह्वान किया कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में कोविड नियमों की अनुपालना तथा सामाजिक दूरी के निर्देशों का पालन करवाएं और जिला प्रशासन का इस मुहिम मंे सहयोग करें।
आदित्य नेगी ने मीडिया कर्मियों से अनुरोध किया कि वे वरिष्ठ नागरिकों के टीकाकरण संबंधित जानकारी एवं स्थानों के बारे में प्रचार-प्रसार में जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करें और जनहित के लिए जानकारी उपलब्ध करवाएं।
उन्होंने इस मुहिम में खण्ड विकास अधिकारियों, पंचायत सचिवों, खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को बेहत्तर समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिए, ताकि धरातल पर टीकाकरण प्रक्रिया संभव हो सके।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त अपूर्व देवगन, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी (प्रोटोकाॅल) विनय धीमान, हिमाचल पथ परिवहन निगम ढली के क्षेत्रीय प्रबंधक देवा सिंह नेगी, परियोजना अधिकारी जिला ग्रामीण विकास अभिकरण संजय भगवती, जिला पंचायत अधिकारी विजय बरागटा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. सुरेखा चैपड़ा, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एच.आर. ठाकुर, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डाॅ. मनीष सूद, जिला कार्यक्रम अधिकारी वंदना चैहान, बाल विकास एवं परियोजना अधिकारी (शहरी) ममता पाॅल एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।