Tue. Mar 5th, 2024

शिमला, 19 मार्च:
उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने आज यहां बचत भवन में जिला स्तरीय अनुश्रवण समिति की कृषि अधोसंरचना राशि के तहत बैठक की अध्यक्षता की। उन्होनें बैठक में उपस्थित प्रगतिशील कृषकों एवं बागवानों, किसान उत्पाद संगठनों एवं स्वयं सहायता समूहों को धरातल पर किसानों की आय दोगुनी करने के ऋण संबंधी जानकारी प्रदान की तथा वर्तमान प्रदेश सरकार द्वारा कृषि, सहकारिता एवं कृषक कल्याण संबंन्धित योजनाओं एवं नीतियों से अवगत करवाया और राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के अधिकारियों से आहवान किया कि वे लघु एवं सीमांत बागवानों को जिला में लाभ प्रदान करें और सेब के अलावा बेमौसमी सब्जियों को तव्ज्जो दें।
उन्होनें बताया कि वैश्विक प्रतिस्पर्धा एवं बाजारवाद के युग में नवीनतम कृषि तकनीक एवं सूचना प्रौद्योगिकी को विशेष महत्व दें और अपनी प्राथमिकताएं तय करें ताकि कृषकों एवं ग्रामीण महिलाओं को राहत मिल सके और सहकारी सभाओं को संबल प्रदान हो सके।
आदित्य नेगी ने बताया कि वर्तमान प्रतिस्पर्धा के दौर में मार्केट लिंकेज एवं ऋण सुविधा का कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण योगदान है तथा दुग्ध सहकारी सभाएं गठित होने से ग्रामीण महिलाओं के समग्र विकास एवं आत्मनिर्भरता की राह मजबूत हुई है। उन्होनें उपस्थित प्रगतिशील कृषक सहायता समूहों एवं स्वयं सेवी सगठनों से आग्रह किया कि वे अपने संबंधित क्षेत्रों में व्यवहार्य तय करें और केन्द्रीय सरकार की किसान कल्याण की योजनाओं का कार्यान्वयन करें ताकि किसानों की आर्थिकी में बढ़ोतरी संभव हो सके।
इस अवसर पर जिला पंचायत अधिकारी विजय ब्रागटा, नाबार्ड बैंक के अधिकारीगण एवं कृषक सहायता समूहों के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।