Tue. Apr 23rd, 2024
उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी की अध्यक्षता में आज यहाँ बचत भवन सभागार में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना के तहत आयोजित बैठक का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर उपायुक्त ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत मेरी पॉलिसी, मेरे हाथ का भी शुभारंभ किया।
उन्होंने कहा कि हाल ही के कुछ वर्षों से हमारे मौसम में काफी परिवर्तन देखने को मिला है जिस वजह से अत्यधिक बारिश एवं सूखे की स्थिति में किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचता है। इस स्थिति में हर एक किसान को अपने फसलों का बीमा करवाना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने किसानों के साथ संवाद स्थापित करते हुए कहा कि हमें फसल बीमे के सन्दर्भ में अन्य किसानों को भी प्रेरित करना चाहिए ताकि सूखे एवं अत्यधिक बारिश की स्थिति में किसानों को किसी प्रकार के नुकसान से बचाया जा सके और उनके आर्थिकी को किसी प्रकार का नुकसान न हो।
उपायुक्त ने कहा कि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष बीमा कंपनी द्वारा बीमित राशि को भी बढ़ाया गया है जिसका सीधा लाभ किसानो को होगा। इस सन्दर्भ में उन्होंने बीमा कंपनी के अधिकारीयों को जिला के अलग-अलग क्षेत्रों में जागरूकता शिविर आयोजित करने के निर्देश भी दिए ताकि किसानो को इससे होने वाले लाभ के बारे में सही जानकारी हासिल हो सके।
इस अवसर पर उपायुक्त ने जिला के अलग-अलग क्षेत्रों से आये किसानों को उनके द्वारा करवाई गई पॉलिसी के दस्तावेज का भी वितरण किया। उपयुक्त ने कहा कि जिला में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना खरीफ 2023 के तहत 160 बीमे एवं पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना खरीफ 2023 के तहत 298 बीमे किसानों द्वारा करवाए जा चुके है।
उपायुक्त ने जिला के अन्य किसानों से भी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा करवाने का आग्रह किया ताकि किसानों की आर्थिकी में किसी प्रकार का नुकसान न हो।
इस अवसर पर उपनिदेशक कृषि अजब कुमार नेगी ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना की विस्तृत जानकारी किसानों को प्रदान की तथा किसानों द्वारा पूछे गए सवालो के उत्तर दिए।
बैठक में उप महाप्रबंधक भारतीय कृषि बीमा कंपनी गौरव सिंह सहित अन्य अधिकारीगण एवं किसान उपस्थित रहे।
-०-