Tue. May 28th, 2024

शिमला 13 फरवरी – प्रदेश स्तर पर आयोजित कोरोना टीकाकरण महाअभियान के दूसरे चरण में उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने आज शनिवार को स्वयं आगे आकर कोरोना वैक्सीन लगवाकर कोरोना वोरियरों को वेक्सीन लगाने के लिए प्रेरित करने के साथ साथ अन्यों का भी हौंसला बढ़ाया।

उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कसुम्पटी में बनाए गए टीकाकरण केंद्र में कोरोना वैक्सीन की अपनी पहली डोज ली और लोगों से आह्वान किया कि वे कोरोना वेक्सीन लगाने से न डरें और जिसे वेक्सीन की आवश्यकता है वे स्वेच्छा से आगे आकर वेक्सीन लगाने के लिए सम्पर्क करें ।

उपायुक्त ने कोरोना के खिलाफ जंग में जनता से मिल रहे सहयोग पर प्रसन्नता जताई। उन्होंने कहा कि जिला में कोरोना टीकाकरण महाअभियान सफलतापूर्वक आगे बढ़ा है। कोरोना वैक्सीन लगवाने को लेकर जो कुछ झिझक पहले लोगों में थीं, वह अब काफी हद तक दूर हो गई है।

उन्होंने बताया कि जिला में कोरोना टीकाकरण के पहले चरण में करीब 9 हजार एक सौ दस कर्मियों को कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया गया है। इनमें आयुष एवं प्राइवेट स्वास्थ्य कर्मी समेत स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े सभी कर्मी और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शामिल हैं।

उपायुक्त ने कहा कि जिला में कोरोना टीकाकरण कार्य के दूसरे चरण में पुलिस व होमगार्ड, राजस्व, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज व शहरी विकास विभाग के प्रथम पंक्ति के कोरोना योद्धाओं को कोरोना रोधी टीका लगाया जा रहा है और द्वितीय चरण में 10 हजार 9 सौ को टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है । जिसमेसे 10 फरवरी बुधवार से शुरू हुए दूसरे चरण के पहले 4 दिन तक तीन हजार सात सौ तीस का टीकाकरण किया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि जिन लोगों को जनवरी में कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगा था, उन्हें दूसरा डोज लगाने की गतिविधियां भी अब शुरू हो जाएंगी।

इस अवसर पर उपमंडलाधिकारी (शहरी) मनजीत शर्मा तथा तहसीलदार शिमला ग्रामीण संजीव गुप्ता ने भी कोरोना रोधी प्रथम टीका लगवाया ।

इस मौके डॉ पीयूष ने बताया कि इस टीकाकरण केंद्र में दोपहर तक 58 लोगों को कोरोना रोधी टिका लगाया जा चुका है ।इस अवसर पर केंद्र में उनके स्टाफ के अन्य स्वास्थ्य अधिकारी मौजूद रहे।
3 Attachments