Sat. Mar 2nd, 2024

उपायुक्त हेमराज बैरवा ने आज राष्ट्रीय सूचना केन्द्र (एनआईसी) किन्नौर द्वारा तैयार किए गए किन्नौर गाईड ऐप का शुभारंभ किया।
उपायुक्त ने बताया कि इस ऐप में किन्नौर जिला के पर्यटन स्थलों की जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि ऐप में जिले के सभी होटलों के पते सहित दूरभाष नम्बर व होटल में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी चित्रों सहित भी एक किल्क पर उपलब्ध होगी। इसके इलावा ऐप के माध्यम से उपभोक्ता जिला प्रशासन, पुलिस हैल्पलाईन व आपातकालीन दूरभाष नम्बरों की जानकारी भी इस पर उपलब्ध होगी। ऐप में जिले के सभी ट्रैकिंग रूट की जानकारी मानचित्र व चित्रों के माध्यम से उपलब्ध होगी।
उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा किन्नौर जिला को विश्व स्तर पर पर्यटन मानचित्र पर लाने में प्रयासरत है। इसी कड़ी में इस ऐप को बनाया गया है। उन्होंने कहा कि जिले में जहां इस ऐप से पर्यटन स्थलों और ऐसे पर्यटन स्थल जो अभी तक पर्यटन की दृष्टि से अनछुए हैं की जानकारी पर्यटकों को उपलब्ध होगी, वहीं जिला प्रशासन लोगों को विशेषकर युवाओं को पर्यटन गतिविधियों से जोड़ने के लिए पर्यासरत हंै और जिले में पर्यटन स्थल अधोसंरचना निजी व सरकारी स्तर पर विकसित की जा रही है।
हेमराज बैरवा ने कहा कि यह ऐप डिजिटल सेविंग व्यक्तियों विशेषकर युवाओं को लाभदायिक सिद्ध होगा तथा भ्रमण के शौकिन व्यक्ति घर बैठे ही किन्नौर के पर्यटन स्थलों की जानकारी हासिल कर सकेंगें। उन्होंने कहा कि यह ऐप यूजर मित्र है तथा कोई भी यूजर सरल तरीके से जिले के पर्यटक स्थलों की जानकारी हासिल कर सकेगा।
उन्होंने कहा कि किन्नौर जिला में हर वर्ष भारी संख्या में देश विदेश के पर्यटक भ्रमण के लिए आते हैं। उन्होंने कहा कि गत वर्ष जिले में लगभग 4 लाख के करीब देशी व विदेशी पर्यटक भ्रमण के लिए आए। उन्होंने कहा कि जिले में पर्यटन के पीक सीजन के दौरान हर माह 60 हजार पर्यटक आते हैं। उन्होंने कहा कि जिले में इस समय निजी क्षेत्र में लगभग 150 होटल व गैस्ट हाउस व कैम्पिंग साईट है। इसके इलावा 103 होम-स्टे ईकाईयां व 9 रैस्तरां भी पर्यटकों को सुविधिाएं प्रदान कर रहें हैं।
उन्होंने कहा कि जिले में लगभग 10 ट्रैकिंग रूट चिन्हित हैं। इसके इलावा भी जिले में अनेक अनछुए ट्रैंकिंग रूट हैं जिनके प्रचार-पसार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जिले में साहसिक पर्यटन की भी अपार संभावना है तथा जिला प्रशासन द्वारा भी जिले में पर्वतारोहण खोलने का मामला सरकार तथा मनाली स्थित अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण और संबंध खेल संस्थान से उठाया गया है।
इस अवसर पर उपमण्डलाधिकारी कल्पा एवं जिला पर्यटन अधिकारी डाॅ. मेजर अवनींद्र कुमार, सहायक आयुक्त मुनीष कुमार शर्मा, जिला सूचना अधिकारी बलवंत सिंह नेगी व एडीआईओ शुंभम कुमार उपस्थित थे।