Sun. Jun 16th, 2024

कांसिल आॅफ सांईटिफिक एण्ड इन्डस्ट्रीयल रिसर्च (सीएसआईआर)- सैन्ट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीबीआरआई) रूड़की के स्थापना दिवस के प्लेटिनम जुबली के समारोह के अवसर पर भारत के उप-राष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिला कांगड़ा के डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद आयुर्विज्ञान महाविद्यालय टाण्डा और जिला सोलन के नागरिक अस्पताल नालागढ़ के कोविड-19 मेक शिफ्ट अस्पतालों का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने सीएसआईआर-सीबीआरआई के सहयोग से बनाए गए जिला कांगड़ा के डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद राजकीय आयुर्विज्ञान महाविद्यालय टाण्डा और जिला सोलन में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नालागढ के कोविड-19 मेक शिफ्ट अस्पतालों का लोकार्पण करने पर उप-राष्ट्रपति का आभार व्यक्त किया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि टाण्डा में 66 बिस्तरों की सुविधा वाले कोविड-19 अस्पताल के बुनियादी ढांचे पर 3.44 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं और नालागढ़ में बनाए गए 45 बिस्तरों की सुविधा वाले कोविड-19 मेक शिफ्ट अस्पताल पर 2.36 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इन्दिरा गांधी चिकित्सा महाविद्यालय शिमला में 18 बिस्तरों की सुविधा वाला मेक शिफ्ट अस्पताल पहले ही कार्य कर रहा है, जिस पर 1.37 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिला मण्डी के नेरचैक में 6.11 करोड़ रुपये की लागत से 100 बिस्तरों वाले मेक शिफ्ट अस्पताल का निर्माण किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष अगस्त-सितम्बर महीने के दौरान कोविड-19 मामलों में तीव्र वृद्धि के कारण मरीजों के बिस्तरों की आवश्यकता को पूरा करने के लिए राज्य में मेक शिफ्ट अस्पताल बनाने की आवश्यकता महसूस की गई। उन्होंने कहा कि सीएसआईआर-सीबीआरआई द्वारा निर्मित ये मेक शिफ्ट अस्पताल न केवल बहुत कम समय में निर्मित किए गए हैं, बल्कि इनमें सभी आधुनिक सुविधाएं हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में अब कोरोना वायरस के सक्रिय मामलों की संख्या में भारी कमी के कारण राज्य सरकार ने लोगों को सुविधा प्रदान करने के लिए आईजीएमसी शिमला के मेक शिफ्ट अस्पताल को मेडिसन इन्टेंसिव केयर यूनिट, टाण्डा के मेक शिफ्ट अस्पताल को संक्रामक बीमारी वार्ड, नालागढ़ के मेक शिफ्ट अस्पताल को ट्राॅमा केयर संेटर और जिला मण्डी के नेरचैक के मेकशिफ्ट अस्पताल को सुपर स्पेशियलटी वार्ड के रूप में परिवर्तित करने का निर्णय लिया है।

जय राम ठाकुर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय वैज्ञानिकों को दुनिया के सबसे बड़े कोविड-19 टीकाकरण अभियान को सफलतापूर्वक शुरू करने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि राज्य में पहले चरण में 93000 से अधिक फ्रंटलाइन वर्कर्ज को टीका लगाया जा रहा है।

सीएसआईआर-सीबीआरआई के महा निदेशक और डीएसआईआर के सचिव डाॅ. शेखर सी. मांडे ने इस अवसर पर गणमान्य लोगों का स्वागत किया।

सीएसआईआर-सीबीआरआई के निदेशक ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

नगरोटा के विधायक अरुण कुमार, मुख्य सचिव अनिल खाची, सचिव स्वास्थ्य अमिताभ अवस्थी शिमला में उपस्थित थे, जबकि दून के विधायक परमजीत पम्मी, पूर्व विधायक के.एल. ठाकुर और उपायुक्त सोलन नालागढ़ में उपस्थित थे।