Fri. Apr 12th, 2024

एकीकृत विद्युत विकास योजना के तहत जोगिन्दर नगर में प्रथम चरण का कार्य पूर्ण

जोगिन्दर नगर, 14 सितम्बर-देश के शहरी क्षेत्रों में सभी स्तरों पर बिजली की मीटरिंग सहित वितरण नेटवर्क को मजबूती प्रदान करने के लिए एकीकृत विद्युत विकास योजना (आईपीडीएस) चलाई जा रही है। केंद्र सरकार ने इस योजना की शुरूआत नवम्बर, 2014 में की गई है। इसके माध्यम से जहां शहरी क्षेत्रों में सब-ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क को मजबूती प्रदान करना है तो वहीं बिजली वितरण हेतु ट्रांसफार्मर, फीडरों एवं उपभोक्ताओं के लिए मीटर लगाना है। साथ ही कुल तकनीकी और वाणिज्यिक क्षति में भी कमी लाना है।
इसी योजना के तहत जोगिन्दर नगर शहरी क्षेत्र में भी कार्य प्रगति पर है तथा जहां पहले चरण का काम पूर्ण कर लिया गया है तो वहीं दूसरे चरण की प्रक्रिया भी जारी है। आईपीडीएस योजना के माध्यम से अब जोगिन्दर नगर शहरी क्षेत्र में यह सुनिश्चित हो जाएगा कि इस क्षेत्र में कितनी बिजली की आपूर्ति हो रही है तथा कितनी बाहर जा रही है। इसकी राज्य स्तर पर शिमला तथा राष्ट्रीय स्तर पर दिल्ली से लाइव मॉनिटरिंग की जाएगी। बिजली वितरण के लाईव टाईम डॉटा मॉनिटरिंग के लिए इस योजना के तहत प्रथम चरण में मीटर तथा मॉडेम स्थापित कर दिये गए हैं। इससे जहां विद्युत उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी तो वहीं विद्युत की हानि एवं वितरण का भी सही आकलन सुनिश्चित हो सकेगा।
जोगिन्दर नगर शहरी क्षेत्र में आईपीडीएस योजना के पहले चरण के माध्यम से लगभग 15 किलोमीटर विद्युत लाइनों की री-कंडक्टिंग की गई है। सात नए विद्युत ट्रांसफॉर्मर स्थापित किये हैं तो वहीं 6 की क्षमता हो बढ़ाया गया है। इसके अलावा नई एलटी व एचटी लाइनें भी बनी हैं। यही नहीं रिमोट टर्मिनल डाटा एक्वाजेशन सिस्टम (आरटी-डीएएस) के तहत बस्सी पॉवर हाऊस में मल्टी फंक्शनल ट्रांसड्यूसर (एमएफटी) लगा दिया गया है जबकि शानन पॉवर हाऊस में इसे स्थापित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। इस तरह आने वाले समय में जोगिन्दर नगर शहरी क्षेत्र में आईपीडीएस योजना के माध्यम से जहां विद्युत आपूर्ति में पूरी पारदर्शिता सुनिश्चित होगी तो वहीं ऑनलाइन डाटा मानिंटरिंग के माध्यम से बिजली की हानि एवं वितरण का भी सही आकलन संभव हो सकेगा।
एकीकृत विद्युत विकास योजना (आईपीडीएस) के तहत प्रदेश के 40 शहरी क्षेत्रों को शामिल किया गया है जिसमें मंडी जिला के तीन शहरी क्षेत्रों रिवालसर, सरकाघाट सहित जोगिन्दर नगर भी शामिल है।
क्या कहते हैं अधिकारी:
एकीकृत विद्युत विकास योजना (आईपीडीएस) के तहत जोगिन्दर नगर शहरी क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों की पुष्टि करते हुए अधिशाषी अभियन्ता विद्युत प्रवेश कौंडल ने बताया कि इस योजना के प्रथम चरण में लगभग पौने दो करोड़ रूपये खर्च कर लिये गए हैं जबकि दूसरे चरण का कार्य भी प्रगति पर है। इस योजना के संपूर्ण हो जाने से आने वाले समय में जोगिन्दर नगर शहरी क्षेत्र में बिजली वितरण एवं आपूर्ति के संपूर्ण डाटा की ऑनलाइन मॉनिटरिंग सुनिश्चित हो जाएगी।