Thu. May 30th, 2024

भारत की अग्रणी जलविद्युत कंपनी एनएचपीसी ने 15 अप्रैल, 2024 को अपने निगम मुख्यालय, फ़रीदाबाद में
भारत रत्न बाबासाहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की 133वीं जयंती मनाने के लिए विशेष कार्यक्रम का आयोजन
किया। श्री आर.पी. गोयल, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी, श्री उत्तम लाल, निदेशक (कार्मिक),
एनएचपीसी, श्री आर.के. चौधरी, निदेशक (तकनीकी एवं परियोजनाएं), एनएचपीसी और एनएचपीसी
अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति कर्मचारी कल्याण संघ एवं एनएचपीसी अन्य पिछड़ा वर्ग कर्मचारी
कल्याण संघ के कार्यकारी सदस्यों द्वारा डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने के साथ इस
कार्यक्रम की शुरुआत हुई।
कार्यक्रम में अपने संबोधन में, श्री आर.पी. गोयल, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी ने डॉ. बी.आर.
अम्बेडकर के सिद्धांतों और उपलब्धियों का उल्लेख किया। उन्होंने डॉ. अंबेडकर को एक उत्कृष्ट विश्व नेता और
जनता एवं महिला सशक्तिकरण के पक्षधर के रूप में परिभाषित किया। एनएचपीसी के निदेशक (कार्मिक) श्री
उत्तम लाल ने कहा कि डॉ. अंबेडकर भारतीय संविधान के निर्माता थे और उन्होंने भारत में जल और नदी
नेविगेशन नीति में उनकी भूमिका के बारे में बताया। अपने सम्बोधन में श्री आर.के. चौधरी, निदेशक (तकनीकी
एवं परियोजनाएं), एनएचपीसी ने एक महान विद्वान और समाज सुधारक के रूप में डॉ. अंबेडकर की सराहना
की। उन्होंने यह भी कहा कि डॉ. अंबेडकर ने आधुनिक भारत को आकार देने में महान भूमिका निभाई है। इस
अवसर पर डॉ. बी.आर. अंबेडकर के जीवन और उपलब्धियों को प्रदर्शित करने वाली एक लघु फिल्म की
स्क्रीनिंग भी की गई।