Thu. May 30th, 2024

किन्नौर जिला के कल्पा उपमण्डल के पूर्वनी गांव में हुए भीषण अगिनकांड के प्रभावितों को आज जिला प्रशासन द्वारा राहत सामग्री प्रदान की गई। जिला प्रशासन की और से नायब तहसीलदार गोपाल मुखिया ने प्रभावित परिवारों को राहत सामग्री वितरित की।
इस अग्निकांड में अति प्रभावित चार परिवारों के 11 सदस्यों को जिला प्रशासन द्वारा प्रति सदस्य एक रजाई, एक कम्बल, एक मैटरेस, बैड-शीट व पिल्लो के अतिरिक्त रोज-मर्रा के प्रयोग में लाए जाने वाले आवश्यक बर्तनों के अतिरिक्त 10 किलो चावल, 10 किलो आटा, दाल, खाद्य-तेल के अतिरिक्त अन्य जरूरी खाद्य सामान इत्यादि भी जिला प्रशासन द्वारा प्रभावित परिवारों को प्रदान किया गया। इस दौरान प्रशासन द्वारा तरपाल भी वितरित किए गए।
उप-मण्डलाधिकारी कल्पा डाॅ. मेजर अवनिन्दर कुमार ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा कल सांय ही 5 प्रभावित परिवारों को फौरी राहत के रूप में 10-10 हजार रुपये की राशि प्रदान की गई थी। आज प्रशासन द्वारा ऐसे परिवारों जिनका सब कुछ ही अग्नि के भेंट चढ़ गया था को जरूरत का आवश्यक सामान वितरित किया गया। उन्होंने बताया कि अग्निकांड से हुए नुकसान का प्रशासन द्वारा आंकलन किया जा रहा है तथा शीघ्र ही राहत निमावली के अनुसार प्रभावितों को राहत राशि प्रदान की जाएगी।
उन्होंने बताया कि जैसे ही प्रशासन को आग लगने की सूचना मिली तुरंत ही सेना की शोंगटोंग स्थित आॅर्डिनेन्स यूनिट, अग्निशमन विभाग व आईटीबीपी की 17वीं वाहिनी के फायर टैंडर मौके के लिए रवाना हो गए, परंतु सड़क सुविधा न होने के कारण उन्हें कठिनाई का सामना करना पड़ा और भारी मुशक्कत के बाद देर रात स्थानीय लोगों के सहयोग से आग पर काबू पा लिया गया।
उन्होंने कहा कि आज भी अग्निशमन के कर्मचारी आग को बुझाने में लगे रहे, क्योंकि भवनों में लकड़ी के अधिक इस्तेमाल के कारण आग रूक-रूक कर दोबारा सुलग रही थी।