Sun. Jul 14th, 2024

मंडी, 8 जून: बरसाती मौसम से पूर्व जिला में आपदा प्रबन्धन की तैयारियों की प्रथम समीक्षा बैठक आज उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित की गई।
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि आपदा के दौरान तैयारियों को लेकर सभी विभागों में आपसी समन्वय स्थापित करने के लिए विभागों को नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दे दिए गए हैं। ये अधिकारी 24 घण्टे उपलब्ध रहेंगे। उन्होंने जिला अधिकारियों को कहा कि इन नोडल अधिकारियों के मोबाइल नम्बर भी शीघ्र जारी किए जाएं। ताकि किसी भी आपदा के समय तुरन्त आपसी सम्पर्क कर राहत कार्यों में कोई देरी न आए।
जिला में बरसात के मौसम के दौरान अतिसंवेदनशील क्षेत्रों को पहले ही चिन्हित किया जा चुका है और इन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान देने के लिए लोक निर्माण विभाग को आदेश दे दिए गए हैं ताकि भू-सख्लन वाले क्षेत्रों में किसी भी आपदा के समय मशीनरी तुरन्त पहुंचाई जा सके। इसमें काफी एरिया फोर लेन में भी आता है जिस बारे एनएचएआई से बात की जाएगी। लोक निर्माण विभाग के तहत भी जिला मंडी में जितने मार्ग हैं उन बारे भी विभाग को निर्देश दे दिए गए हैं।
जिला में आपदा मित्र वालंटियर्स भी आपदा के समय अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हैं। इनके अलावा सर्व वालंटियर्स भी हैं इन सभी को बरसात के मौसम से पूर्व पुनः सक्रिय किया जाएगा।
हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी प्री मानसून से पूर्व पानी के स्रोत्र व अन्य नालियों की साफ-सफाई बारे सम्बन्धित विभागों को निर्देश दे दिए हैं कुछ निर्देश पंचायतों के माध्यम से भी दिए जाएंगे ताकि पंचायत स्तर पर भी इस दिशा में कार्य शीघ्र किया जाए।
सम्बन्धित विभाग को जिला के समस्त स्कूलों के निरीक्षण के भी आदेश दे दिए गए हैं ताकि पता चल सके कि जिला में किसी स्कूल का भवन असुरक्षित तो नहीं है। विद्युत विभाग को निर्देश दिए गए कि जिला में विद्युत खम्बों व तारों का समय पर निरीक्षण करें ताकि आपदा के समय विद्युत आपूर्ति बाधित न हो सके।
वन विभाग को निर्देश दिए गए कि जितने भी असुरक्षित वृक्ष हैं, गिरने के कगार पर हैं उनको समय पर हटा दिया जाए ताकि आपदा के समय किसी प्रकार का कोई नुकसान न हो।
राष्ट्रीय उच्च मार्गों पर आपदा के समय यातायात बाधित न हो इसके लिए होम गार्डस की टीम को हमेशा तैयार रखा जाएगा इस बारे भी सम्बन्धित विभाग को निर्देश दे दिए गए हैं।आने वाले दिनों में इन टीमों की तैनाती भी कर दी जाएगी।
उपायुक्त ने लोगों से अपील की कि अपने घरों में पेयजल टंकियों की सफाई को समय रहते अपने स्तर पर कर लें ताकि मानसून मौसम के दौरान किसी प्रकार की कोई स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या न आए।
बैठक में अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट श्रवण मांटा, जिला राजस्व अधिकारी राजीव सांख्यान, जल शक्ति, लोक निर्माण और विद्युत विभाग के अधीशासी अभियन्ता उपस्थित थे।