Tue. May 28th, 2024

क्षेत्रीय अस्पताल आरकेएस शासी निकाय की वार्षिक बैठक क्षेत्रीय अस्पताल सभागार में आयोजित अस्पताल में मरीजों की सुविधा के लिए ऑनलाईन रजीस्ट्रेशन को किया जाएगा शुरू:- आशुतोष गर्ग

कुल्लू 9 नवम्बर। क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू रोगी कल्याण समिति शासी निकाय की वार्षिक बैठक आज उपायुक्त एवं समिति अध्यक्ष आशुतोष गर्ग की अध्यक्षता में क्षेत्रीय अस्पताल स्थित सभागार में आयोजित की गई। सदर क्षेत्र के विधायक सुंदर सिंह ठाकुर भी बैठक में उपस्थित रहे।
बैठक में चर्चा की गई कि अस्पताल में हीटिंग सुविधा को बढ़ाने के लिए अधिक से अधिक व्यय किया जाना चाहिए ताकि अस्पताल में आने वाले मरीजों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। इसके लिए प्राक्कलन तैयार किया जाएगा। इसके साथ ही कोविड-19 मरीजों की टैस्टिंग के लिए अस्पताल परिसर में बनाए गए अस्थाई ढांचे के स्थान पर ट्रांसपेरेंस शाीट से युक्त स्थाई ढांचे का निर्माण किया जाएगा ताकि ठंड के दौरान आरटीपीसीआर टैस्टिंग के लिए आने वाले लोगों को किसी प्रकार की समस्या न हो। सदर विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने कहा कि अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए आर एच कुल्लू को ऐबुलेंस प्रदान की जाएगी।
उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कहा कि अस्पताल परिसर में दो एटीएम कमरों के निर्माण, ब्लड कंपोनैंट सेपेरेटर तथा अन्य छिट-पुट कार्यों के लिए लिए 10 लाख रूपए की राशि व्यय की जाएगी। इससे अस्पताल परिसर के अंदर ही लोगों को पैसे निकालने की सुविधा मिलेगी।उन्होंने अस्पताल परिसर के अंदर जन औषधी दुकान के सामने साईनेज लगाने को कहा ताकि अधिक से अधिक लोग जन औषधी दुकान में रियायत मूल्य पर मिलने वाली दवाईयों का फायदा उठा सकें। आरकेएस के अंतर्गत लगाए गए स्टाफ के वेतन की राशि को बढ़ाने के लिए आगामी प्रक्रिया अपनाने को कहा गया।
उपायुक्त ने कहा कि अस्पताल में रजिस्ट्रेशन काउंटर पर मरीजों की पर्ची बनाने के लिए दो और कर्मचारियों को आउटसोर्स पर रखा जाएगा ताकि मरीजों को अधिक देर तक लाईन में खड़ा न होना पड़े। अस्पताल में मरीजों के लिए ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन पर्ची शुरू की जाएगी। इससे मरीज को अस्पताल में आकर लाईन में नहीं लगना पड़ेगा। इससे जहां उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं भी मिलेंगी वहीं समय की भी बचत होगी।  मरीजों की सुविधा के लिए अस्पताल में इलैक्ट्रानिक टोकन पद्धति को भी पुनः शुरू किया जाएगा। मरीजों की सुविधा के लिए अस्पताल में तीन अल्ट्रासाउंड मशीनें स्थापित गई हैं। अस्पताल में बीपीएल मरीजों की सुविधा के लिए 56 प्रकार के लैब टैस्ट निःशुल्क किए जाते हैं तथा ईसीजजी की सुविधा भी 24 घंटे अस्पताल में मरीजों को उनके बैड पर उपलब्ध करवाई जाती है। गरीबी रेखा से ऊपर रहने वाले मरीजों/ कैंसर/टीबी से ग्रस्त  लोगों को 5 लाख रूपए तक की निःशुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाती है। इसके लिए मरीजों को अपना हिमकेयर या आयुष्मान भारत योजना का कार्ड बनाना जरूरी है। इसके साथ ही जानवर द्वारा काटे गए मामलों में मरीजों को आर एच कुल्लू तथा जिला के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में निःशुल्क उपचार की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।
उन्होंने बताया कि आपातकालीन दुर्घटना से सम्बंधित ऐसे मामले जिनमें मरीज के साथ परिचर न होने की स्थिति में अस्पताल द्वारा ऐसे मामलों में सीटी स्कैन तथा उपचार की सुविधा निःशुल्क उपलब्ध करवाई जाती है। गरीब तथा बीपीएन परिवार से सम्बंधित कैंसर से ग्रस्त मरीजों के टैस्ट निःशुल्क किए जाते हैं। उन्होंने बताया कि आरएच अस्पताल में एचआईवी तथा हिम केयर या आयुुष्मान भारत योजना वाले एपीएल तथा बीपीएल कार्ड धारकों को डायलेसिस की सुविधा निःशुल्क प्रदान की जा रही है। अस्पताल में इसके लिए आठ मशीनें लगाई गई हैं। रैड क्रॉस सोसायटी की ओर से भी ऐसे मरीजों को निःशुल्क सुविधा प्रदान की जा रही है। ऐसा एक और यूनिट सुूल्तानपुर में भी स्थापित किया गया है।
बैठक में मशनरी व उपकरण, वाहनों के लिए पेट्रोल/ डीजल की खरीद हेत, बिजली, पानी की मैंटेनेस, डायगनोस्टिक सम्बंधी सेवाओं यूसीजी, ईसीजी मैटेरियल, ऑक्सीजन सिलैंडरों की रिफिलिंग हेतु 22 लाख रूपए की कार्योत्तर स्वीकृति प्रदान की गई। शिमला तथा पीजीआई चंडीगढ़ के लिए ऐबुलेंस के प्रति किलोमीटर किराए को 9 रूपए से बढ़ाकर 12 रूपए प्रति किलोमीटर किया गया। जन औषधि दुकान के किराए को भी पुनः निर्धारित करवाने के लिए बैठक में चर्चा की गई।अस्पताल के भीतर रजिस्ट्रेशन काउंटर में नर्सिंग कालेज या एनसीसी के छात्रों की स्वैच्छिक सेवाएं लेने को कहा गया जो मरीजों को अस्पताल में प्रदान की जाने वाली सुविधाओं, सेवाओं तथा उपचार बारे लोगों को जानकारी प्रदान करने के साथ उनका उचित मार्गदर्शन सुनिश्चित करेंगे। बैठक में आरकेएस के अंतर्गत विभिन्न मद्दों में वर्ष 2021-22 के लिए अनुमानित प्राप्ति 1 करोड़ 49 लाख रूपए को स्वीकृति प्रदान की गई। इसके साथ ही वर्ष 2021-22 के लिए  विभिन्न मद्दों के अंतर्गत 1 करोड़ 78 लाख 90 हजार रूपए के अनुमानित व्यय की राशि को स्वीकृति प्रदान की गई।
इसके अतिरिक्त आयुवेईिक अस्पताल कुल्लू आरकेएस के अंतर्गत भी विभिन्न मद्दों पर बैठक में चर्चा की गई। आरकेएस के तहत वर्ष 2021-22 के लिए विभिन्न मद्दों के तहत अनुमानित प्राप्ति 16 लाख 90 हजार रूपए तथा अनुमानित व्यय  15 लाख 14 हजार रूपए को भी स्वीकृति प्रदान की गई। बैठक में पंचकर्मा पद्धति को और बेहतर बनाने को लेकर कार्य योजना बनाने के लिए भी विभाग को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। पंचकर्मा के प्रति लोगों तथा पर्यटकों में जागरूकता फैलाने के लिए उचित स्थानों पर होर्डिग्ज स्थापित करने को कहा गया।
इससे पहले मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 सुशील चंद्र शर्मा ने मुख्यािितथि का स्वागत किया तथा आरकेएस के अंतर्गत अस्पताल में किए कार्यों तथा उनसे सम्बंधित व्यय का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया तथा बैठक के सफल आयोजन को लेकर उपस्थित सभी सरकारी व गैर सरकारी सदस्यों का धन्यवाद किया।
इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा0 अतुल गुप्ता, डा0 नरेश कुमार, एसएमओ डा0 हीरा लाल बोध, जिला कार्यक्रम अधिकारी डा0 सत्याव्रत वैद्य, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डा0 बिहारी लाल शर्मा, सदस्य सचिव आरकेएस डा0 जसबिन्द्र कपूर, स्वास्थ्य शिक्षक निर्मला महंत, लेखा अधिकारी अंशुल भटनागर के अतिरिक्त समिति के अन्य सरकारी तथा गैर सरकारी सदस्य भी उपस्थित रहे।
-0-,