Sun. Jul 14th, 2024

क्षेत्रीय अस्पताल रिकांग पिओ जिला किन्नौर के रोगी कल्याण समिति की शासकीय निकाय की बैठक आज उपायुक्त हेमराज बैरवा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में वर्ष 2020-21 के बजट को मंजूरी दी गई जो लगभग 87 लाख रुपये का है। बैठक में वर्ष 2019-20 की आॅडिट रिपोर्ट को भी मंजूरी दी गई।
उपायुक्त एवं आरकेएसके अध्यक्ष बैरवा ने जिले में बाल मृत्यु दर में सुधार लाने के लिए अहम कदम उठाने के आईसीडीएस व चिकित्सा विभाग को निर्देश दिए। उन्होंने संस्थागत प्रसुति को जिले में शत-प्रतिशत बनाने के भी निर्देश दिए तथा जिले के लोगों विशेषकर, महिलाओं व बच्चों को पौष्टिक आहार के बारे में जागरूक करने को भी कहा। उन्होंने कहा कि किन्नौर जिला को हम स्वास्थ्य क्षेत्र में प्रदेश ही नहीं देश भर में सभी मानकों पर सर्वश्रेष्ठ जिला बनाने चाहते हैं, जिसके लिए सभी विभागों का एकजुट सहयोग आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि जिले में रिक्त पड़े मेडिकल, टैक्नीश्यन के 7 पदों व चतुर्थ श्रेणी के रिक्त पदों को भरने का मामला प्रदेश सरकार से उठाया जाएगा। उन्होंने चिकित्सालय भवन की मुरम्मत करने को भी लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने पुराने सैन्टर हीटींग प्रणाली का विशेषज्ञ से सर्वेक्षण करवाने को भी कहा तथा अस्पताल भवन में सौर-उर्जा चालित सैन्टर हीटींग प्रणाली की संभावनाएं तलाश करने के भी निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने पुराने आॅपरेशन थियेटर से नए बने आॅपरेशन थियेटर को जोड़ने के लिए आवश्यक पग उठाने को भी मंजूरी दी गई।
बैठक में चिकित्सकों के आवासों की मुरम्मत, लैब परिसर के निर्माण को भी मंजूरी दी गई। बैठक में रोगियों की सुविधा के लिए नई पार्किंग निर्माण को भी मंजूरी दी गई। बैठक में अस्पताल में ईलाज के लिए आने वाले रोगियों की सुविधा व गुणात्मक सुविधाएं उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से लगभग 14 लाख के आवश्यक उपकरण खरीदने को भी मंजूरी दी गई।
उपायुक्त ने अस्पताल प्रशासन को उपभोक्ता केन्द्रित सोच अपनाने पर बल दिया तथा कहा कि रोगियों की सुविधा के लिए हर संभव प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने रोगी पंजीकरण के दौरान रोगियों की सुविधा के लिए कुर्सियां लगाने के भी निर्देश दिए ताकि रोगियों को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना ना करना पड़े। उन्होंने अस्पताल परिसर में सभी सूचना पट् हिन्दी भाषा में लगाने के भी निर्देश दिए। बैठक में रोगियों व उनके साथ आने वाले तामिरदारों की सुविधा के लिए सन-रूम के निर्माण की संभावनाएं तलाशने के भी निर्देश दिए।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. सोनम नेगी ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया। उन्होंने जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था के बारे में भी जानकारी दी तथा आरकेएसके के अध्यक्ष एवं उपायुक्त व अन्य सरकारी व गैर-सरकारी सदस्यों का स्वागत किया।
उपायुक्त ने बैठक के उपरान्त क्षेत्रीय अस्पताल के वार्डों, स्टोररूम, प्रयोगशाला, एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड रूम का भी निरीक्षण किया तथा अस्पताल प्रशासन को अस्पताल परिसर में सफाई व्यवस्था बनाए रखने तथा यहां आने वाले रोगियों को हर संभव सहायता उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।
बैठक में विभिन्न विभागों से संबधित सरकारी व गैर-सरकारी सदस्य उपस्थित थे।
.0.