Mon. Feb 26th, 2024

कार्यालय सहायक लोक संपर्क अधिकारी आनी

खेगसू मंडी में सेब खरीद का काम रहेगा जारी – डॉ. ऋचा वर्मा

उपायुक्त ने कहा- बागवान-आढ़तियों की समस्याएं दूर करना प्रशासन की प्राथमिकता

कोरोना कंटेनमेंट जोन में संक्रमितों के संपर्क में आने वाले सभी लोगों के लिए जाएंगे सेंपल

आनी, 18 जुलाई, कोरोना संक्रमण के मामले आने के बाद खेगसू मंडी में कामकाज जारी रहेगा। बागवान और आढ़ती पहले की तरह की कामकाज जारी रखें और कोरोना से निपटने के लिए प्रशासन का सहयोग करें। उपायुक्त कुल्लू डॉ. ऋचा वर्मा ने ये बात आज खेगसू मंडी के दौरे के दौरान कही। उन्होंने कहा कि बागवान कोरोना मामलों से चिंतित न हों और सेब खेगसू मंडी में बेचें, एहतियात बरतें और सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करें। दौरे के दौरान उपायुक्त ने आढ़तियों से मुलाकात कर उनकी समस्याओं को जाना और उनको दूर करने का भी आश्वासन दिया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एक सप्ताह के भीतर मंडी में फुट टैप लगाएं और लोगों को हाथ धोने के लिए उचित व्यवस्था करें।

उन्होंने मंडी में उपस्थित बागवानों को ये आश्वासन भी दिया कि यदि सेब सीजन को निपटाने के लिए किसी बागवान के मजदूर प्रदेश से बाहर हैं तो उनको लाने के लिए प्रशासन पूरा सहयोग करेगा लेकिन मजदूर लाने वाले बागवान को सरकार के तय दिशा निर्देशों का पालन करना होगा। इससे पहले कंटेनमेंट जोन घोषित छांवटी गांव में उन्होंने लोगों से बातचीत भी की।

आनी में पत्रकारवार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार और प्रशासन की तरफ से कोरोना से निपटने की तैयारियां पूरी हैं और इस पर बीते करीब दो महीने से मंथन भी जारी है। प्रशासन किसी भी स्थिती से निपटने के लिए तैयार है। भविष्य में भी यदि लोग कोरोना संक्रमित होते हैं तो प्रशासन इस स्थिती से निपटने के लिए भी तैयार है। खेगसू मंडी में कोरोना संक्रमित व्यक्ति के पाए जाने की सूरत में उन्होंने मंडी को बंद करने या सील करने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि मंडी को समय समय पर सेनेटाइज किया जाएगा जो संक्रमित होगा उसे आइसोलेट या फिर कोविड केयर सेंटर में रखा जाएगा। अभी तक जो भी मामले कोरोना के सामने आए हैं उनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों के सेंपल लिए जाएंगे और रेंडम सेंपलिंग जारी रहेगी ताकि कोरोना से बचाव हो सके। उन्होंने लोगों से बार बार हाथ धोने, मास्क पहनने, लोगों से दो गज की दूरी रखने और स्वच्छता का ध्यान रखने की भी अपील की।

इस दौरान उपायुक्त ने कहा कि यदि कोई आढ़ती या कंपनी लोगों के बगीचे से ही सेब खरीदने के लिए आता है तो उसके लिए किसी भी प्रकार की मनाही नहीं है। उन्होंने सेब सीजन को निपटाने के लिए स्थानीय लोगों, बागवानों, आढ़तियों से सहयोग की अपील भी की है