Thu. Apr 25th, 2024

जगदीश को जनमंच से अपना कार्य पूर्ण होने की जगी आस
नौ महीने के लम्बे समय के उपरांत पुनः जनमंच कार्यक्रम आरम्भ होने से लोगों के घरद्वार पर उनके कामों की पूर्ति की आस जगी है। कोरोना संक्रमण के चलते यद्यपि सामाजिक दूरी बनाए रखने और मास्क पहनने की अनिवार्यता के साथ लोग जनमंच में भाग ले रहे हैं। वहीं जनमंच कार्यक्रम से रोगी केलवी निवासी जगदीश वर्मा के लिए नई आशा बन कर उभरा। आईटीबीपी में तैनात जगदीश वर्मा छतीसगढ़ के नक्सली इलाकों से सेवाएं प्रदान कर देश की रक्षा कर रहे हैं।
उन्होंने बताया कि लम्बे समय से उनके घर में पानी की सुविधा नहीं थी। जनमंच कार्यक्रम के दौरान उनकी समस्या को सुना गया और विधानसभा अध्यक्ष के आश्वासन तथा अधिकारियों के सहयोग से उन्हें पानी की आपूर्ति की मांग पूरी होती दिखी। उन्होंने कहा कि वह लम्बे समय बाद घर आते हैं और इस समस्या के प्रति काफी समय से उन्होंने प्रयास किया था। अब यह मांग जल्द पूरी होगी, जो जनमंच के माध्यम से सार्थक हो सका है।
उन्होंने कहा कि अधिकारी त्वरित कार्य करते हुए इस मांग को पूरा करेंगे, जिससे परोक्ष रूप से हमारे परिवारों की भी रक्षा होगी।