Sat. Jul 20th, 2024

मंडी जिला में युवाओं के लिए रोजगारोन्मुखी कौशल प्रशिक्षण योजनाएं बनाने में जिला कौशल समिति मंडी की कारगर भूमिका रहेगी। समिति कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों का निर्धारण व मूल्यांकन भी करेगी। इससे युवाओं को जिला या आसपास के क्षेत्र में ही उपयुक्त रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर प्राप्त हो सकेंगे। अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल ने यह बात जिला कौशल समिति, मंडी की पहली बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही।
अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया कि हिमाचल प्रदेश सरकार ने जिला कौशल समिति मंडी का गठन जिला स्तर पर कौशल प्रशिक्षण योजनाएं बनाने के लिए किया है। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तृतीय संस्करण में जिला कौशल समिति यह तय करेगी कि मंडी जिला में किस क्षेत्र में कौशल प्रशिक्षण किया जाएगा।।
जतिन लाल ने बताया कि जिला कौशल समिति का प्रयास है कि मंडी जिला में युवाओं की मांग तथा उद्योगों की रोजगार उपलब्धता के अनुसार कौशल प्रशिक्षण दिया जाए, जिससे जिला के युवाओं को जिला या आसपास के क्षेत्र में ही उपयुक्त रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर प्राप्त हो सकें।