Sun. Jul 14th, 2024

मंडी, 5 अक्तूबर: द्रंग विधान सभा क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग के तहत पीएमजीएसवाई और नाबार्ड के तहत 23 सड़कों के निर्माण पर 118 करोड़ की राशि व्यय की जा रही है। यह जानकारी वन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री राकेश पठाानिया ने आज बासाधार में जनसभा को सम्बोधित करते हुए दी।
राकेश पठानिया द्रंग विधान सभा क्षेत्र के तहत बासाधार में 25 लाख की लागत से नव निर्मित वन विश्राम गृह का विधिवत लोकापर्ण करने के उपरान्त जनसभा को सम्बोधित करते हुए बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि पर्यटन की दृष्टि इस विश्राम गृह का विशेष महत्व है। उन्होंने कहा कि यह विश्राम गृह गोगडधार के केन्द्र बिन्दू में स्थित है। यह मंडी से 16 किलोमीटर, पधर से 18 किलोमीटर, डायनापार्क से 7 किलोमीटर और कमांद से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
वन मंत्री ने कहा कि प्रदेश के कुल भौगोलिक क्षेत्र का लगभग 68.16 प्रतिशत क्षेत्र वनों के तहत आता है। इसमें से 15100 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल में वन हैं जो कुल भौगोलिक क्षेत्र का 27.12 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि वनों में स्थानीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए कईं योजनाएं आरम्भ की गई हैं और इन्हीं प्रयासों से वन क्षेत्र में निरन्तर वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि मंडी जिला में में 44.89 क्षेत्र वनों के अधीन है। उन्होंने कहा कि गत वर्ष पौध रोपण में मंडी जिला प्रथम स्थान पर रहा। जिला के दं्रग विधान सभा क्षेत्र में सबसे अधिक वन क्षेत्र आता है और अब यहां चील की जगह फलदार पौधों रोपित किए जा रहे हैं। वनों के संरक्षण और संर्वधन के लिए विभाग द्वारा विभिन्न योजनाएं क्रियान्वित की गई हैं जिसमें वन समृद्धि, जन समृद्धि, एक बूटा बेटी के नाम, ईको टूरिज्म प्रमुख हैं।
राकेश पठानिया ने कहा कि प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में प्रदेश के सभी क्षेत्रों के चहंुमुखी विकास के लिए निरन्तर प्रयासरत है। उन्होंने लोगों से भी अपील की कि विकास योजनाओं में अपनी भागीदारी भी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार मूलभूत सुविधाओं को सुदृढ़ करने पर विशेष बल दे रही है। सरकार का प्रयास है कि लोगों को उनके घरद्वार पर बेहजतर मूलभूत सुविधाएं मुहैया करवाई जाएं।
वन मंत्री ने अपने दो दिवसीय प्रवास के दौरान जिला के रमणीक स्थल पराशर का भ्रमण कर वहां ईको टूरिज्म साईट चिन्हित की। उन्होंने कहा कि पराशर विकास प्राधिकरण को पुनः सक्रिय किया जा रहा है ताकि इस क्षेत्र में होने वाली हर गतिविधि पर नजर रखी जा सके।
16 गैस कनैक्शन वितरित
वन मंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश गृहिणी सुविधा योजना के तहत प्रदेश में ढाई लाख कनैक्शन वितरित किए जा चुके हैं और प्रदेश देश का पहला धुंआ मुक्त राज्य बनने जा रहा है। इस मौके पर उन्होंने हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के तहत 16 गैस कनैक्शन भी वितरित किए ।
उन्होंने कहा कि द्रंग विधान सभा क्षेत्र में 16 नई पंचायतों का गठन किया गया है और चुनाव होने के उपरान्त एक माह के भीतर सभी पंचायत घरों का निर्माण कार्य आरम्भ कर दिया जाएगा। वन मंत्री ने बासाधार से धार बागला, विश्राम गृह बंगला के लिए 3-3 लाख रुपए देने की घोषणा की। स्थानीय विधायक द्वारा उठाई गई मांगो को भी स्वीकृति प्रदान की।
स्थानीय विधायक जवाहर ठाकुर ने कहा कि क्षेत्र में जल जीवन मिशन के तहत ढाई करोड़ की राशि व्यय की जा रही है। झटींगरी से बरोट सड़क के विस्तारीकरण पर 25 करोड़ की राशि व्यय की जा रही है। उन्होंने बताया कि न्यूल बूढ़ा बिंगल सड़क के लिए 4.50 करोड़, कटीण्ढी-कासाल, नगरोटा-सेगलढुग और चकनवाड से पाली सड़कों के निर्माण पर 13 करोड़ की राशि व्यय की जाएगी।
इस अवसर पर विधायक धर्मशाला विधान सभा क्षेत्र विशाल नैहरिया, मंडलाध्यक्ष दलीप कुमार, महामंत्री संजय कुमार, पंचायत प्रधान त्रयाम्बली दीनानाथ, जिला परिषद सदस्य प्रकाश, मुख्य अरण्यपाल एस.के.मुसाफिर, वन निगम के मुख्य अरण्यपाल एच.वी. कथूरिया, वनमंडलाधिकारी एस.एस.कश्यप, रेंज आफिसर राजेश ठाकुर, मंजु देवी, अनु ठाकुर, सहित अन्य अधिकारी व गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।