Fri. Jun 14th, 2024

शिमला: 09 अक्तूलबर,2020

भारत के माननीय प्रधानमंत्री, श्री नरेन्द्र मोदी ने 8 अक्तूरबर,2020 को अर्थव्य्वस्थाब के फिर से खुलने के दौरान तथा आगामी त्यौनहारी सीज़न, सर्दी के मौसम से पहले समुचित कोविड-19 व्यरवहार को बढ़ावा देने के लिए एक जागरूकता अभियान ”जन आंदोलन” आरंभ किया है। इस अभियान के भाग के रूप में, सभी द्वारा एक कोविड-19 शपथ ली जानी है।

कोविड-19 के विरूद्ध लड़ाई में सामाजिक रूप से जिम्मेेदार संगठन होने की प्रतिबद्धता के साथ, एसजेवीएन के अध्य1क्ष एवं प्रबंध निदेशक, श्री नंद लाल शर्मा ने कारपोरेट मुख्याेलय, शिमला में पब्लिक एड्रेस सिस्टएम के माध्य म से सभी कर्मचारियों को कोविड-19 शपथ दिलाई। इस अवसर पर श्री नंद लाल शर्मा ने कहा कि एसजेवीएन में प्रत्येडक कर्मचारी अभियान के मुख्यक संदेश-‘मास्क। पहनने, सामाजिक दूरी का पालन करने, हाथों को स्वकच्छअ बनाए रखने’ के प्रति सर्तक रहने और इनका अनुपालन करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्हों ने सभी कर्मचारियों से सामुहिक रूप से कोविड समुचित व्येवहार का अनुपालन करने के लिए अपने आस-पास के अन्या व्यहक्तियों को प्रोत्सा हित करने की दिशा में कार्य करने का आग्रह किया। इस अवसर पर निदेशक (सिविल), श्री एस.पी.बंसल, निदेशक(वित्त), श्री ए.के.सिंह तथा निदेशक(विद्युत) श्री सुशील शर्मा निगम के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित उपस्थित थे।

श्री शर्मा ने अवगत कराया कि कोरोना चुनौती का मुकाबला करने के लिए, एसजेवीएन ने भी पीएम केयर्स फण्डे में 25 करोड़ रुपए का अंशदान दिया है। कोविड-19 के विरूद्ध लड़ाई में एसजेवीएन के कर्मचारियों ने पहले ही अपने वेतन से प्रधानमंत्री केयर्स फंड में 32,00,000 रुपए (बत्तीकस लाख रुपए) तथा मुख्यामंत्री राहत कोष/हिमाचल प्रदेश कोविड-19 सॉलिडेरीटी रिस्पांसस फंड में 45,00,000 रुपए (पैंतालीस लाख रुपए) का अंशदान दिया है।

एसजेवीएन के कर्मचारियों ने अपने वेतन से कोरोना योद्धाओं (नगर निगम शिमला के स्वुच्छअता कार्मिकों) (प्रति कार्मिक 5000/- रुपए की दर से) को 59,00,000 रुपए (उनसठ लाख रुपए) का भी अंशदान दिया है।

उन्होंरने यह भी बताया कि एसजेवीएन ने सरकार और सरकारी अस्पंतालों को वेंटिलेटरों, अन्य) चिकित्साा उपकरण, व्यहक्तिगत सुरक्षा उपकरण(पीपीई), मास्कों्, सेनिटाईजरों एवं दस्ताननों, बिस्तार, गद्दे, तीन प्ला1ई मास्कों , थर्मल स्कै नरों, जरूरतमंद व्ययक्तियों को खाद्य पदार्थों आदि की खरीद के लिए 3,20,00,000 रुपए (तीन करोड़ बीस लाख रुपए) की वित्तींय सहायता प्रदान की है। कोविड-19 के कारण उत्प3न्नस होने वाली किसी संभावित परिस्थिति का सामना करने के लिए, झाकड़ी, ज्यूवरी और कोटला में 48 बिस्तेरों को चिन्हित किया गया है। ये कमरे सभी आवश्येक सुविधाओं, विद्युत के साथ उपलब्धी कराए गए हैं। कोविड-19 के संबंध में लोगों को मोबाईल हेल्थ वैनों, होर्डिंग्सआ, मेडिकल स्टॉतफ तथा रेडिया जिंगल्सय के माध्यहम से जागरूक किया जा रहा है।