Sat. Mar 2nd, 2024

परिवहन विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि विभाग ने निजी बस आॅपरेटरों के ज्ञापन पर विचार विमर्श किया है और मुख्यमंत्री कार्यालय से भी इस सम्बन्ध में चर्चा हुई है। उन्होंने कहा कि निजी बस आॅपरेटरों के क्रियाशील पूंजी एवं टैक्स माफी के प्रस्ताव हैं जिनपर सरकार गम्भीरता से विचार कर रही है। इसे शीघ्र ही मंत्रिमण्डल की बैठक के समक्ष अनुमोदन के लिए प्रस्तुत किया जाएगा।

उन्होंने सभी निजी बस आॅपरेटरों से प्रस्तावित हड़ताल को वापिस लेने का आग्रह किया है ताकि इस कोरोनाकाल में आम जनता को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।