Wed. Dec 6th, 2023

शिमला, 11 सितम्बर
उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने आज यहाँ बताया कि 13 सितम्बर 2020 रविवार को आयोजित होने वाली हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा परीक्षा (प्रारंभिक) के तहत जिला में कुल 43 परीक्षा केंन्द्र स्थापित किए गए है जिसमें लगभग 9314 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। उन्होंने बताया कि 30 केंन्द्र शिमला शहरी तथा 13 अन्य परीक्षा केन्द्र जिला के विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित किए गए है। उल्लेखनीय है कि पहली बार ये परीक्षा उपमण्डल स्तर पर भी आयोजित की जा रही है।
उन्होंने बताया कि जिला स्तर पर जिला समन्वयक तथा उपमण्डल स्तर पर उपमण्डलाधिकारी परीक्षा समन्वयक के तौर पर प्रबंधन व समन्वय करंेगे। उन्होने कहा कोविड-19 के तहत परीक्षा के आयोजन के लिए जिला प्रशासन की और से सभी एहतियात बरती जा रही है। जिसके सम्बंध में सभी केंन्द्र अधीक्षकों एवं नोडल अधिकारीयों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए जा चुके हैं।
उन्होने बताया की परीक्षा दो हिस्सों में आयोजित की जाएगी जिसके तहत प्रातः 10 बजे सामान्य अध्ययन परी़क्षा जबकि दोपहर 2 बजे व्यवहारिक परीक्षा आयोजित की जाएगी।
उन्होनें बताया कि कोविड पाॅजिटिव अथवा संभावित मामलों के परीक्षार्थियों के लिए जिला प्रशासन द्वारा सावधानियां बरतते हुए अलग से विशेष व्यवस्थाएं की गई है। जिसके तहत कोविड पाॅजिटिव रोगी को कोेविड केयर सेंटर में ही अलग परीक्षा केंन्द्र की सुविधा प्रदान की जाएगी जबकि सभी उपमंडलों में संभावित रोगी परीक्षार्थी के लिए भी अलग सेंटर का सृजन किया गया है। उन्होंने बताया कि कोविड पाॅजिटिव अथवा संम्भावित मामलों के परीक्षार्थियों को आने जाने की व्यवस्था भी की जाएगी।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 के तहत परीक्षा आयोजन के लिए विशेष मानक संचालन प्रक्रिया के अंतर्गत जो परीक्षार्थी प्रतियोगी परीक्षाओं के संदर्भ में प्रदेश के अंदर एवं बाहर जाना चाहते हैं उनके लिए क्वॉरेंटाइन होना अनिवार्य नहीं होगा अगर वे 72 घंटे की अवधि में वापस आते हैं। उन्होंने बताया कि प्रतियोगी परीक्षा का एडमिट कार्ड प्रमाणित दस्तावेज होगा और परीक्षार्थी और उसके अभिभावक को अन्य कोई पंजीकरण करवाना अनिवार्य नहीं होगा।
उन्होंने बताया कि कोविड 19 के मानक संचालन प्रक्रिया में प्रशिक्षार्थी की सुरक्षा के लिए परीक्षा केंद्र में सभी एहतियाद बरतते हुए समूचित सफाई व सेनिटेशन आदि की पर्याप्त व्यवस्था की गई है जिसके तहत परीक्षा केंन्द्र में अन्दर आने से पहले सबके तापमान की जांच की जाएगी यदि तापमान उच्च हुआ तो उस व्यक्ति की अलग कमरे में परीक्षा होगी। उन्होने बताया कि परीक्षा केंन्द्र स्थल व परिसर को सोडियम हाइपोक्लोराइट साॅलूशन से साफ किया जाएगा और परीक्षा केंद्र में तैनात स्टाफ मास्क एवं ग्लव्स पहने होंगे। प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर उपलब्ध करवाए जाएंगे तथा शौचालय हाइपो सोडियम हाइपोक्लोराइट सलूशन से साफ किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि परीक्षा केंद्र के आसपास डस्टबिन की सफाई सुनिश्चित की जाएगी तथा उन्हें पूर्ण रूप से बंद किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से परीक्षा केंद्र मैं तैनात स्टाफ एवं अभ्यर्थियों का पूर्ण डाटाबेस तैयार किया जाएगा और महामारी के फैलाव के लिए सारे कदम उठाए जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि कोविड 19 महामारी के फैलाव को रोकने के लिए सभी परीक्षार्थियों का सहयोग आपेक्षित है। उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरी बनाए रखने माॅस्क से मुंह और नाक को सही रुप से ढकने तथा हाथों को निरंतर धोने अथवा सेनेटाइज करने जैसे नियमों को अनिवार्य रुप से अपनाया जाए। उन्होनें कहा कि किसी भी समस्या के लिए नोडल अधिकरी तथा उपमण्डलाधिकारी से संम्पर्क करें।