Mon. Mar 4th, 2024

मंडी, 10 नवम्बर: मंडी जिला प्रशासन बर्फबारी के दौरान जिला में किसी भी प्रकार की आपदा से निपटने के लिए पूरी तरह मुस्तैद है। इस संदर्भ में उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने समस्त विभागों के जिला अधिकारियों के साथ बैठक कर बर्फबारी से पहले अपनी तैयारियां पूरी करने के निर्देश दिए। सभी व्यवस्थाओं को सुचारू बनाए रखने के लिए पूर्व प्रबंध करने को कहा।
उन्होंने कहा कि सर्दियों के दौरान जिला में चुहारघाटी, सराजघाटी, शिकारी देवी, कमरूनाग क्षेत्र, रोहाण्डा, पंढार, बरोट, पराशर, थुनाग, जंजैहली तथा गाढ़ागुसैणी इत्यादि क्षेत्रों में अत्यधिक बर्फबारी की संभावना रहती है। इन क्षेत्रों में जन जीवन को सुचारू रखने व ग्रामीणों को बिजली-पानी व राशन उपलब्ध करवाने के साथ-साथ यातायात सहित हर प्रकार की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह सजग है।
ऋग्वेद ठाकुर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सर्दियों के दौरान आपदा प्रबंधन के लिए हर विभाग एक-एक नोडल अधिकारी नियुक्त करे और उनका मोबाइल नंबर जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ साझा करेें।
उन्होंने सर्दियों के दौरान भारी बारिश व बर्फबारी के कारण बन्द होने वाली सड़कों को खोलने, बिजली व पेयजल की व्यवस्था सुचारू रखने के लिए सम्बन्धित विभागाधिकारियों को निर्देश दिए । दुर्घटना संभावित क्षेत्रों को चिन्हित कर वहां सुरक्षा के लिहाज से विशेष ध्यान देने को कहा।
उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों से कहा कि वे सर्दियों के दौरान बर्फबारी वाले इलाकों में जाने वाले पर्यटकों व ट्रैकरों पर नजर रखें ताकि इस दौरान किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके।
उपायुक्त ने ज्यादा बर्फवारी क्षेत्रों में उचित मूल्य की दुकानों में 5 महीने का अग्रिम राशन, गैस सिलेंण्डर के अलावा जरूरी दवाईयों की पूरी व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
चौबीसों घंटे क्रियाशील है आपदा प्रबन्धन केन्द्र
उपायुक्त ने लोगों से अपील की कि किसी भी प्रकार की आपदा की स्थिति में तुरन्त जिला आपदा प्रबन्धन परिचालन केन्द्र के दूरभाष नम्बर 01905-226201, 202, 203,204, अथवा टोल फ्री 1077 नम्बर पर सूचित करें। आपदा प्रबन्धन केन्द्र चौबीसों घंटे क्रियाशील है।
इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्रवण मांटा, जिला राजस्व अधिकारी राजीव सांख्यान सहित समस्त विभागों के जिला अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया ।