Sat. May 25th, 2024

शिमला, 17 फरवरी:
राष्ट्रीय बांस मिशन के अंतर्गत जिला शिमला के लिए गठित जिला स्तरीय बांस विकास एजेंसी की बैठक आज उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी की अध्यक्षता में आयोजित की गई, जिसमें मिशन के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के लिए कार्य योजना को अंतिम रूप देने के लिए विचार-विमर्श किया गया।
उन्होंने बताया कि वित्तिय वर्ष 2021-22 के लिए लगभग 5 करोड़ 49 लाख रुपये की कार्य योजना तैयार की गई है। मिशन के तहत 79 हैक्टेयर क्षेत्रफल को लाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि योजना के तहत सरकारी तथा निजी भूमि पर उत्तम प्रजाति के बांस उत्पादन को बढ़ावा देने के प्रयास किए जाएंगे।
उन्होंने बताया कि बांस के व्यवसायिक खेती के लिए किसानों को जागरूक तथा प्रेरित करने के लिए जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जाएगा, ताकि किसानों की आय में वृद्धि की जा सके। उन्होंने बताया कि निजी, सरकारी एवं सामुदायिक भूमि में वृषारोपण के लिए भूमि की पहचान की जाएगी। बांस के प्रजातियों की पहचान उद्योगों की मांग के अनुरूप की जाएगी ताकि आगे चलकर उद्योगों की स्थापना के लिए उद्यमियों को प्रेरित किया जा सके।
उन्होंने समिति के सभी सदस्यों से योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए समन्वय स्थापित कर कार्य करने का आग्रह किया ताकि किसानों को इसका लाभ प्राप्त हो सके।
इस अवसर पर उप-निदेशक कृषि हेम राज ठाकुर, जिला कृषि अधिकारी मोहिन्द्र भारद्वाज, जिला पंचायत अधिकारी विजय बरागटा, जिला योजना अधिकारी प्रदीप शर्मा एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।
.0.

5 Attachments