Tue. Jun 25th, 2024

रोहांडा धार पर स्थित मंडी जनपद के बड़ादेव कमरूनाग के मंदिर में अभी तक केवल पैदल चल कर ही पहुंचना संभव था। इस यात्रा की दुर्गमता के कारण कई श्रद्धालुओं के लिए बड़ादेव के दर पर पहुंचकर माथा टेकना बस एक सपना ही था। लेकिन शाला पंचायत ने मनरेगा में इस मंदिर के लिए 16 किलोमीटर लंबी सड़क बना कर न केवल हजारों-लाखों श्रद्धालुओं की मन की मुराद पूरी की है, बल्कि मनरेगा में लीक से हटकर विविध काम करने की ‘रेंज’ का भी उत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया है।
पंचायत ने 2.88 करोड़ रुपये से बनाई इस सड़क का नाम आध्यात्मिक मार्ग रखा है। इस मार्ग को मनरेगा में 7 किलोमीटर तक पक्का भी किया चुका है, शेष का काम जारी है।