Sun. Jul 14th, 2024

मंडी, 15 मार्च – मध्य जलेब के उपरांत ‘री लिव दी पास्ट’ प्रदर्शनी देखने पहुंचे मंडलायुक्त विकास लाबरू ने इसकी खूब तारीफ की। इस दौरान उनकी धर्मपत्नी शैलजा लाबरू भी साथ रहीं।
मंडलायुक्त ने कहा कि अपनी विरासत और अतीत को सहेजने और प्रदर्शित करने की जिला प्रशासन यह पहल सही मायने में प्रशंसनीय है। वे प्रदर्शनी में लगे हर स्टॉल पर गए और वहां रखी वस्तुओं का बड़े चाव से अवलोकन किया। उन्होंने इस आयोजन के लिए महोत्सव आयोजन समिति के सभी सदस्यों की पीठ थपथपाई।

बीते कल को आने वाले कल से जोड़ रही प्रदर्शनी

विकास लाबरू ने कहा कि ‘री लिव दी पास्ट’ में जाकर कुछ पलों के लिए बीते दौर में वापिस लौटना अच्छा लगा। गुजरे वक्त में झांकना, उस समय की चाजों को देखना बड़ा भावनात्मक अनुभव रहा। उन्होंने कहा कि यह प्रदर्शनी एक सेतु का काम कर रही है, जो बीते कल को आने वाले कल के साथ जोड़ रही है। उन्होंने कहा कि उनकी पीढ़ी का तो इन सब चीजों से कुछ ताल्लुक रहा है, लेकिन आज के युवा इनसे अनजान हैं। प्रशासन का नई पीढ़ी को अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत से जोड़ने का यह प्रयास एक सार्थक पहल है।
इस दौरान उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर, पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री, एडीएम श्रवण मांटा, सूचना एवं जन संपर्क विभाग की उपनिदेशक मंजुला कुमारी सहित अन्य अधिकारी उनके साथ रहे।