Tue. Apr 23rd, 2024

मंडी संसदीय क्षेत्र में 34 मतदान केंद्रों पर केवल महिला कर्मी करवाएंगी वोट

मंडी, 29 अक्तूबर । निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त मंडी अरिंदम चौधरी ने बताया कि मंडी संसदीय क्षेत्र में हर विधानसभा हल्के में दो मतदान केंद्र महिला कर्मियों द्वारा संचालित होंगे। इस प्रकार पूरे संसदीय क्षेत्र में 34 मतदान केंद्र ऐसे होंगे जिन पर महिला कर्मी ही मतदान करवाएंगी । इसके अतिरिक्त मंडी संसदीय क्षेत्र में हर विधानसभा हल्के में दो आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं। यहां मतदाताओं के लिए विशेष सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। हर विधानसभा क्षेत्र के 50 फीसदी मतदान केंद्रों की वेबकास्टिंग की जाएगी। बता दें, मंडी लोकसभा उपचुनाव के लिए 30 अक्तूबर को प्रातः 8 बजे से सायं 6 बजे तक वोट डाले जाएंगे।
मंडी जिला में ये हैं आदर्श मतदान केंद्र
अरिंदम चौधरी ने बताया कि मंडी जिला में 18 मतदान केंद्रो को आदर्श मतदान केंद्र के रूप में चिन्हित किया गया है । करसोग विधानसभा क्षेत्र के करसोग-1 तथा ममेल, सुन्दरनगर विधानसभा क्षेत्र के पंुग व बडोह, नाचन विधानसभा क्षेत्र के बासा व कंडोल, सराज  विधानसभा क्षेत्र के निहारी भजौण व जंजैहली, दं्रग विधानसभा क्षेत्र के कुन्नू व भ्यूली, जोगिन्द्रनगर विधानसभा क्षेत्र के जोगिन्द्रनगर-1 व टिक्करी मुशैहरा-1, सदर मंडी के तल्याहड़-1 व पड्डल-2, बल्ह विधानसभा क्षेत्र के भंगरोटू-2 व नलसर-2 तथा सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र सरकाघाट व टटहार मतदान केंद्रो को मॉडल मतदान केंद्र के रूप में चिन्हित किया गया है ।
मंडी जिला में 18 मतदान केंद्र महिला कर्मी संचालित
निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मंडी जिला में 18 मतदान केंद्र ऐसे हैं जहां मतदान प्रक्रिया सम्पन्न करवाने के लिए केवल महिला कर्मचारी ही सेवाएं दे रही हैं ।  जिसमें करसोग विधानसभा क्षेत्र के करसोग-1 व ममेल-2, सुन्दरनगर विधानसभा क्षेत्र के पुंग-1 व बडोह, नाचन विधानसभा क्षेत्र के बासा व कंडोल, सराज के बनयाड़ व धलयार, दं्रग विधानसभा क्षेत्र के सियूण व भियूली, जोगिन्द्रनगर विधानसभा क्षेत्र के जोगिन्द्रनगर -1 व जोगिन्द्रनगर-2 सदर मंडी विधानसभा क्षेत्र के लोअर समखेतर-1 व दरम्याना-11, बल्ह विधानसभा क्षेत्र के भंगरोटू-2 व टांवा-1 तथा सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र के गोपालपुर-1 व गोपालपुर-11 मतदान केंद्र सम्मिलित है ।
कोरोना के चलते बरती जाएगी खास सावधानी
निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर मतदान प्रक्रिया में खास सावधानी बरती जाएगी। पोलिंग स्टेशनों को मतदान से पहले और बाद में पूरी तरह सैनेटाईज किया जाएगा । मतदान कर्मियों को मास्क, फेस शील्ड, ग्लव्ज इत्यादि दिए जाएंगे। इसके साथ ही सभी मतदाताओं को भी मास्क और ग्लव्स दिए जाएंगे। मतदाताओं को गल्व्ज पहन कर ही ईवीएम का बटन दबाने की अनुमति होगी।
कोरोना संक्रमित मतदाताओं के लिए भी मतदान केंद्रों पर विशेष व्यवस्था रहेगी, उनके लिए मतदान के आखिरी घंटे में मतदान के लिए व्यवस्था रहेगी।
वोटर कार्ड के अलावा 11 दस्तावेज मान्य
अरिंदम चौधरी ने बताया कि सभी मतदाताओं को लोकसभा उपचुनाव के दौरान 30 अक्तूबर को मतदान करने के लिए अपनी पहचान हेतु मतदान केन्द्र पर अपना मतदाता पहचान पत्र (वोटर कार्ड) प्रस्तुत करना होगा। उन्होंने बताया कि यदि किसी कारणवश वोटर कार्ड उपलब्ध न हो तो पहचान हेतु आधार कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, बैंकों/डाकघरों द्वारा जारी की गई फोटोयुक्त पास बुक, श्रम मंत्रालय की योजना के अन्तर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, भारतीय पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, राज्य/केन्द्र सरकार के लोक उपक्रम-पब्लिक लिमिटेड द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किये गए फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, पैन कार्ड, एनपीआर के अंतर्गत आरजीआई द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, सांसदों-विधायकों/विधान परिषद सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र तथा आधार कार्ड फोटोयुक्त वैकल्पिक दस्तावेज के रूप में प्रस्तुत किये जा सकते हैं।
मजबूत लोकतंत्र के लिए करें मतदान
निर्वाचन अधिकारी ने सभी मतदाताओं से मजबूत लोकतंत्र के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग करने का आग्रह किया है। उन्होंने अपील की कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए सभी मतदाता संसदीय उपचुनाव में 30 अक्तूबर को अपने मताधिकार का जरूर इस्तेमाल करें।