Sat. Mar 2nd, 2024

जोगिन्दर नगर, 24 अगस्त-महात्मा गांधी रोजगार गारंटी (मनरेगा) योजना ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के लिए रोजगार का एक अहम जरिया साबित हो रही है। इस योजना के माध्यम से न केवल ग्रामीण विकास को ही बल मिल रहा है बल्कि ग्रामीण लोगों के लिए यह रोजगार प्रदान करने में एक अहम कड़ी भी सिद्ध हो रही है। जहां तक वैश्विक महामारी कोविड 19 की बात करें तो मनरेगा इस मुसीबत भरे दौर में ग्रामीण लोगों के लिए रोजगार का एक अहम कदम भी साबित हुई है।
मंडी जिला के चौंतड़ा विकास खंड की बात करें तो मनरेगा के तहत गत साढ़े तीन वर्षों के दौरान लगभग 36 करोड़ रूपये व्यय किए जा चुके हैं। इस अवधि के दौरान कुल 3854 कार्यों को विभिन्न पंचायत स्तर पर शुरू किया गया जिनमें से 2502 कार्यों को पूर्ण कर लिया गया है। जहां तक मानव कार्य दिवस अर्जित करने की बात है तो गत साढ़े तीन वर्षों के दौरान पूरे चौंतड़ा ब्लॉक में अब तक कुल 12 लाख 96 हजार 668 मानव कार्य दिवस अर्जित किये गए हैं। इसी से ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि मनरेगा योजना ग्रामीण क्षेत्र के विकास के साथ-साथ रोजगार का भी एक अहम जरिया साबित हो रही है।