Sat. Mar 2nd, 2024

मंडी, 8 मार्च – केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग ने मानसिक रोग से पीडि़त लोगों को राहत और सहायता प्रदान करने के लिए टोल-फ्री मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास हेल्पलाइन ‘किरण’ (1800-599-0019) शुरू की है। यह हेल्पलाइन सातों दिन चौबीसों घंटे काम करेगी। उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने इस बारे जानकारी देते हुए बताया कि इस हेल्पलाइन का उद्देश्य मानसिक रोग से पीडि़त लोगों को मदद प्रदान करना है।
इसका उद्देश्य ऐसे लोगों की सहायता करना है जो तनाव, चिंता, डिप्रेशन, पैनिक अटैक, मनोग्रसित बाध्यता विकार, तालमेल बैठाने संबंधी विकार, आघोतोपरांत मानसिक तनाव, मादक द्रव्यों के सेवन, आत्महत्या के विचारों, महामारी से प्रेरित मनोवैज्ञानिक मुद्दों और मानसिक स्वास्थ्य आपात स्थितियों का सामना कर रहे हैं।
इसमें कोविड-19 तनाव प्रबंधन सेवा सहित मानसिक अस्वस्थता की शीघ्र पहचान, प्राथमिक उपचार, मनोवैज्ञानिक सहयोग, तनाव प्रबंधन, मानसिक स्वास्थ्य का उत्थान, सुधारात्मक व्यवहारों को बढ़ावा देना, मनोवैज्ञानिक आपदा प्रबंधन और मानसिक स्वास्यि विशेषज्ञों के पास रेफर करने जैसी सेवाएं मिलेंगी।
उपायुक्त ने कहा कि टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1800-599-0019 पर किसी भी दूरसंचार नेटवर्क के किसी भी मोबाइल या लैंड लाइन फोन से संपर्क किया जा सकता है। इसमें मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ लोगों की समस्या का समाधान करने या बाहरी मनोवैज्ञानिक मनोचिकित्सक से जोड़ने या रेफर करने में मदद करेंगे। यह हेल्पलाइन उन लोगों के लिए काफी मददगार है जो भारी मानसिक तनाव, महामारी से जुड़ी मनोवैज्ञानिक समस्याओं और मानसिक स्वास्थ्य संबंधी आपातकालीन स्थितियों से गुजर रहे हों।