Sun. Jun 16th, 2024

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने जिला मण्डी के जोगिन्द्रनगर में स्वर्ण जयंती पंच परमेश्वर ग्राम स्वराज सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के पंचायती राज संस्थानों को सुदृढ़ करने के लिए संकल्पबद्ध हैं, क्योंकि ये लोकतंत्र की आधारभूत इकाई हैं और प्रदेश के समग्र विकास में इनका योगदान महत्वपूर्ण है। प्रदेश सरकार पंचायती राज संस्थानों का सुचारू क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिए निर्वाचित प्रतिनिधियों को हर संभव सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने पंचायती राज संस्थानों के निर्वाचित प्रतिनिधियों को अधिक जिम्मेदारी और समर्पण भाव के साथ कार्य करने का आग्रह किया ताकि वे लोगों की अपेक्षाओं पर खरा उतर सकें। उन्होंने पंचायती राज संस्थानों के प्रभावी कार्यान्वयन में महिलाओं की भूमिका की भी सराहना की। उन्होंने संस्थानों के निर्वाचित प्रतिनिधियों से प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के लाभार्थियों की पहचान करने का भी आग्रह किया ताकि समाज के निम्न वर्ग को विकास के लाभ मिल सकें।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के पांच लाख से अधिक वृद्धजनों को वृद्धावस्था पेंशन प्रदान कर रही है। 65 वर्ष से अधिक आयु वर्ग की सभी पात्र महिलाओं को बिना किसी आय सीमा के वृद्धावस्था सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के अन्तर्गत प्रदेश में 3.17 लाख निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए गए हैं और हिमाचल प्रदेश देश का पहला धुआं मुक्त राज्य बन गया है। उन्होंने का कि कोरोना महामारी के कारण अपने माता-पिता खोने वाले बच्चों को प्रतिमाह 3500 रुपये प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कठोर प्रयास कर रही है और इस संक्रमण के नियंत्रण के लिए व्यावहारिक कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस महामारी से पूर्व प्रदेश में केवल एक आॅक्सीजन संयंत्र था, परन्तु आज प्रदेश में 12 आॅक्सीजन संयंत्र कार्यशील हैं और प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर 28 और आॅक्सीजन संयंत्र लगाए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में जोगिन्द्रनगर विधानसभा आदर्श विधानसभा बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने आज जोगिन्द्रनगर विधानसभा क्षेत्र के चैंतड़ा में 110 करोड़ रुपये लागत की विकासात्मक परियाजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण किए हैं। उन्होंने कहा कि यह प्रदर्शित करता है कि पिछले साढ़े तीन सालों में विकास की गति को बढ़ावा मिला है। जोगिन्द्रनगर विधानसभा क्षेत्र में करोड़ों रुपये की विकासात्मक परियोजनओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस महामारी के बावजूद प्रदेश सरकार राज्य का निर्बाध गति से विकास सुनिश्चित कर रही है, जिसके लिए उन्होंने शिमला से वर्चुअली राज्य के लगभग 42 विधानसभा क्षेत्रों में 4000 करोड़ रुपये लागत की विकासात्मक परियोजनओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए हैं।