Mon. Mar 27th, 2023

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज जिला मंडी की दं्रग विधानसभा क्षेत्र में 200 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए, जिनमें से केवल पनारसा के लोगों के लिए 69.04 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाएं समर्पित की।

मुख्यमंत्री ने पनारसा में 18.39 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण किए। उन्होंने ग्राम पंचायत घरेण में 10.36 करोड़ रुपये लागत की पेयजल आपूर्ति योजना थल्कनधार के संवर्धन, ग्राम पंचायत बांधी में रहन, बांधी और हलोग की बस्तियों के लिए पेयजल आपूर्ति योजना, तहसील सदर की ग्राम पंचायत कोटाधार में पेयजल आपूर्ति योजना पलनीधार बांदल और पेयजल आपूर्ति योजना सरान, बधानी, खबलाश, सुरथ, सैहगल और सनसाई, रहारी के संवर्धन, ग्राम पंचायत कोटाधार में 64 लाख रुपये की लागत से उठाऊ सिंचाई योजना हन्सु सोझा जोरी और किगस, पनासरा में 27 लाख रुपये की लागत से लोक निर्माण विभाग के कनिष्ठ अभियन्ता और 28 लाख रुपये की लागत से सहायक अभियन्ता के आवासीय भवन, 1.80 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित कठयारी से अनसार सड़क, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 1.84 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित रहाला से शायरी सड़क, आरएएम केन्द्र नगवांई में 2 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित भेड़ शैड भवन और आरएएम केन्द्र नगवांई में 1.20 करोड़ रुपये की लागत से कार्यालय एवं प्रशिक्षण केन्द्र का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने 50.65 करोड़ रुपये के शिलान्यास किए। उन्होंने तहसील औट की ग्राम पंचायत चैहटीगढ़ में डीपीएफ सरैन, कनौज और रोपा की बस्तियों के लिए 49 लाख रुपये की पेयजल आपूर्ति योजना, तहसील सदर की ग्राम पंचायत नगवांई तथा झिड़ी में गांव झिड़ी, नगवांई और शिल मशोरा की बस्तियों के लिए 89 लाख रुपये की उठाऊ पेयजल योजना, तहसील सदर की ग्राम पंचायत भटवारी और बांधी में 2.32 करोड़ रुपये लागत से पेयजल योजना भटवारी, शल, शारा, निहलू, ओडीधार, रैंस, नसियार और बट्टा चनानी के सुधार एवं संवर्धन, तहसील सदर में 2.46 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना पनारसा, 50 लाख रुपये की उठाऊ सिंचाई योजना, टकोली 81 लाख रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना झिड़ी, 1.15 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना नगवांई, तहसील ओट की ग्राम पंचायत कोटाधार, पाली, फर्श, कथियारी, बांधी, कोट, दलाश, भटवारी, ओट, नाउ और किगस के विभिन्न गांवों के लिए 7.75 करोड़ रुपये की लागत से घरेलू नल कनेक्शन प्रदान करने, तहसील सदर की ग्राम पंचायत कोट दलाश में 11.39 करोड़ रुपये की लागत से उठाऊ जलापूर्ति योजना डुगली चल्ला के सुधार एवं संवर्धन कार्य, नाबार्ड के अन्तर्गत 17.18 करोड़ रुपये की लागत से ज्वालापुर-पराशर सड़क, कोटाधार (पनारसा) में 50 लाख रुपये की लागत से हेलीपैड, टकोली में 5.21 करोड़ रुपये की लागत से मार्किट यार्ड भवन की आधारशिला रखीं।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने द्रंग विधानसभा क्षेत्र के पनारसा में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह दिन वास्तव में द्रंग क्षेत्र के लोगों के लिए ऐतिहासिक है, क्योंकि उन्होंने एक ही दिन में 200 करोड़ रुपये के विकासात्मक कार्य लोगों को समर्पित किए। उन्होंने इस क्षेत्र के कांग्रेस के पूर्व मंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान किए गए विकासात्मक कार्यों के विवरण देने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि पूर्व मंत्री मण्डी में पे्रस कान्फ्रेंस आयोजित कर निराधार आरोप लगाते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष के नेताओं को उनके स्वभाव और कार्य करने के तरीके की चिन्ता करने की आवश्यकता नहीं है, बल्कि उन्हें अपने काम पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने उन पर पूरा विश्वास व्यक्त किया है और उन्हें अपना स्वभाव बदलने की कोई आवश्यकता नहीं हैं। पूर्व सरकार एक भी पंचायत का सृजन नहीं कर पाई, जबकि वर्तमान राज्य सरकार ने 412 नई पंचायतें बनाई हैं। उन्होंने कांग्रेस के नेताओं पर कोरोना महामारी के राजनीतिकरण करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं को प्रदेश की जनता को यह बताना चाहिए कि उन्होंने पिछले 50 वर्षों में स्वास्थ्य क्षेत्र में क्या किया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने गृहिणी सुविधा योजना के अन्तर्गत 3.15 लाख पात्र परिवारों को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान कर राज्य को धुंआ मुक्त प्रदेश बनाया है।

मुख्यमंत्री ने रैश में प्राथमिक पाठशाला खोलने, नाऊ में जल शक्ति इंस्पेक्शन हट, आगामी सत्र से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला नगवाईं में विज्ञान की कक्षाएं आरम्भ करने और इस अवसर पर उपस्थित पंचायतों को विधायक जवाहर ठाकुर की विधायक निधि से 25-25 हजार रुपये देने की घोषणा की।

द्रंग के विधायक जवाहर ठाकुर ने द्रंग विधानसभा क्षेत्र में आज आयोजित तीन कार्यक्रमों के दौरान लगभग 200 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने विधानसभा क्षेत्र के पनारसा की विकासात्मक मांगों की विस्तृत जानकारी भी दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की विशेष रुचि व उदारता के परिणामस्वरूप ही ज्वालापुर-पराशर सड़क का निर्माण सम्भव हो पाया है। उन्होंने मुख्यमंत्री से पराशर को नई राहें, नई मंजिलें कार्यक्रम के अन्तर्गत शामिल करने और टकोली में दूध संग्रहण केन्द्र खोलने का आग्रह किया।

बल्ह के विधायक इंद्र सिंह गांधी, बंजार के विधायक सुरेन्द्र शौरी, वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष राजबली, मिल्कफेड के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा, जिला परिषद मंडी के अध्यक्ष पाल वर्मा, सैनिक कल्याण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर, कृषि उत्पाद विपणन बोर्ड के सलाहकार रमेश शर्मा, उपायुक्त मंडी अरिंदम चैधरी सहित अन्य इस अवसर पर उपस्थित थे।