Thu. May 30th, 2024

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मंडी जिले की द्रंग विधानसभा क्षेत्र के कटौला में 28.11 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए। उन्होंने अगले सत्र से द्रंग विधानसभा क्षेत्र में आईटीआई खोलने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कटौला में 3.69 करोड़ रुपये की लागत के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन, तहसील सदर में 2.04 करोड़ रुपये की लागत से पराशर, कालंग, सोलंग में पेयजल योजना और उत्तरशाल क्षेत्र की पेयजल योजना के संवर्धन, कटोला में 1.17 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कटौला में विज्ञान प्रयोगशाला भवन, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 4.38 करोड़ रुपये की लागत से पुराना कटौला से कुन्धक सड़क, खलियार में 96 लाख रुपये की लागत से जिला कोषागार अधिकारी के लिए आवासीय भवन और कमान्द में 1.06 करोड़ रुपये की लागत से आधुनिक जीका नर्सरी का लोकार्पण किया।

जय राम ठाकुर ने कटौला में 14.81 करोड़ रुपये लागत की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास किए। उन्होंने तहसील सदर की ग्राम पंचायत शेगली में 1.99 करोड़ रुपये की लागत से हर घर नल से जल, नाबार्ड के अन्तर्गत 7.09 करोड़ रुपये से कटौला-बोदनधार-कुन्दक-टिहरी-कालंग-पटौंश सड़क, 27 लाख रुपये की लागत से कनिष्ठ अभियन्ता के आवासीय भवन, कमान्द में 35 लाख रुपये से सहायक अभियन्ता के आवास, तहसील सदर की ग्राम पंचायत शेगली में जुथारू नाला से श्रीदेव पराशर मन्दिर के लिए 1.87 करोड़ रुपये की लागत की उठाऊ जलापूर्ति योजना और 3.24 करोड़ रुपये की लागत से तहसील सदर में ग्राम पंचायत कटौला, कमान्द में जल वितरण प्रणाली के सुधारीकरण और जलापूर्ति योजना रियारी लंगझणु के सुधारीकरण कार्य की आधारशिला रखीं।

मुख्यमंत्री ने कटौला में लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य का सन्तुलित और समग्र विकास सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि अनेकांे बार दं्रग क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले राज्य के पूर्व वरिष्ठ मंत्री क्षेत्र में हो रहे विकास पर प्रश्न उठा रहे हैं। उन्होंने नेता को सलाह दी कि वे आधारहीन बयानबाजी न करें क्योंकि द्रंग क्षेत्र के लोग अपने हितों से भलीभांति परिचित हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोविड-19 महामारी के दौरान यह सुनिश्चित किया कि स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी से किसी भी व्यक्ति को परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि महामारी के शुरूआत में राज्य में केवल 50 वेंटीलेटर्ज उपलब्ध थे जबकि आज प्रदेश में 600 से अधिक वेंटीलेटर्ज उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि आज भारत 10 लाख से अधिक पीपीई किट का उत्पादन कर रहा है, जबकि डेढ वर्ष पहले भारत में एक भी पीपीई किट तैयार नहीं होती थी। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री को जवाब देना चाहिए कि उनकी सरकार ने पिछले 50 वर्षों में राज्य में स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्या किया है।

मुख्यमंत्री ने पिछले साढ़े तीन वर्षों के दौरान पूरे दिल से समर्थन देने के लिए प्रदेश के लोगों का आभार व्यक्त किया। उनके आर्शीवाद से ही भाजपा ने 2018 के बाद प्रदेश में हुए सभी चुनावों में जीत हासिल की है। उन्होंने क्षेत्र के लोगों से इस परोपकार को आने वाले वर्षों तक जारी रखने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश ने पिछले कुछ महीनों में चार वरिष्ठ नेताओं को खोया है, जिसके कारण जुब्बल-कोटखाई, अर्की और फतेहपुर में विधानसभा और मण्डी में लोकसभा उपचुनाव शीघ्र ही होंगे।

जय राम ठाकुर ने कहा कि समाज के हर वर्ग और राज्य के हर क्षेत्र का विकास सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश में कई विकासात्मक परियोजनाएं शुरू की गई हैं।

मुख्यमंत्री ने राजकीय माध्यमिक पाठशाला छकरयाल को उच्च पाठशाला के रूप में स्तरोन्नत करने की घोषणा की। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कटौला में परीक्षा हाॅल के निर्माण के लिए 20 लाख रुपये की देने भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने एक बूटा बेटी के नाम योजना के अन्तर्गत पौधरोपण भी किया। उन्होंने एक बूटा बेटी के नाम योजना के अन्तर्गत बालिकाओं के माता-पिता को एक पौधा भी भेंट किया और जीका का पोस्टर भी जारी किया।

इस अवसर पर अनेक सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक संगठनों, गैर सरकारी संगठनों, महिला मंडलों और युवक मंडलों ने मुख्यमंत्री को सम्मानित किया।

द्रंग के विधायक जवाहर ठाकुर ने द्रंग विधानसभा क्षेत्र में लगभग 200 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र का पराशर क्षेत्र राज्य के सबसे खूबसूरत क्षेत्रों में से एक है और इसे पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाना चाहिए। उन्होंने द्रंग विधानसभा क्षेत्र में 16 नई ग्राम पंचायतें बनाने के लिए भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से क्षेत्र में आईटीआई खोलने का भी आग्रह किया और क्षेत्र की विकासात्मक मांगों को विस्तृत रूप से मुख्यमंत्री के समक्ष रखा।

बल्ह के विधायक इंद्र सिंह गांधी, वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष राजबली, मिल्कफेड के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा, जिला परिषद मंडी के अध्यक्ष पाल वर्मा, सैनिक कल्याण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर, उपायुक्त मंडी अरिंदम चैधरी सहित अन्य इस अवसर पर उपस्थित थे।