Sat. May 25th, 2024

राज्यपाल ने सीमा काॅलेज के स्काउट्स द्वारा विकसित स्वर्णिम पुष्प वाटिका का शुभारम्भ किया

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज राजभवन से वर्चुअल माध्यम से जिला शिमला के राजकीय महाविद्यालय सीमा के स्काउट्स द्वारा विकसित की गई स्वर्णिम पुष्प वाटिका का शुभारम्भ किया। उन्होंने सतत् आजीविका के स्काउटिंग माॅडल के माध्यम से समग्र विकास अभियान का भी शुभारम्भ किया।

राज्यपाल ने सीमा काॅलेज के स्काउट्स के प्रयासों की सराहना करते हुए आशा व्यक्त की कि उनके ये प्रयास प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी क्रियान्वित किए जा सकते हैं। उन्होंने स्काउटिंग से जुड़े युवाओं से अपने जीवन में स्काउट्स एण्ड गाइड्स के नौ बुनियादी सिद्धांतों को अपनाने पर बल दिया जिनमें विश्वास, ईमानदारी, भाईचारा, विनम्रता, जानवरों और पर्यावरण के प्रति पे्रम, अनुशासन, साहस, मितव्ययिता और विचारों, शब्दों व कर्मों में पवित्रता आदि शमिल हैं।

उन्होंने कहा कि स्काउटिंग और गाइडिंग एक ऐसा अभियान है जिसका प्रमुख उद्देश्य युवाओं का शारीरिक, बौद्धिक, भावनात्मक, सामाजिक, आध्यात्मिक विकास है ताकि उनका व्यक्तित्व निर्माण हो और वे देश के जिम्मेदार नागरिक बन सकें। उन्होंने स्काउटिंग के संस्थापक लाॅर्ड बैडेन पावेल के शब्दों को भी उल्लेखित किया जिसमें उन्होंने कहा था के ‘आप जो प्राप्त करते हैं वैसा जीवन बताते हैं, लेकिन आप जो देते हैं उससे अपना जीवन बनाते हैं।’ स्काउटिंग युवा सशक्तीकरण को प्राप्त करने, सक्रिय नागरिक बनने, आजीवन मूल्यों और कौशल विकास करने के अलावा चरित्र, बुद्धिमत्ता, स्वास्थ्य और शक्ति, के चार स्तंभों के आधार पर शांति की शिक्षा प्रदान करता है।

श्री दत्तात्रेय ने स्काउट्स और गाइड्स के तीन प्रमुख सिद्धांतों का पालन करने पर बल दिया, जिनमें भगवान के प्रति कत्र्तव्य, अन्यों के लिए कत्र्तव्य और स्वयं के लिए कत्र्तव्य शामिल हैं। उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान विभिन्न गतिविधियों में स्काउट और गाइड की भूमिका की सराहना की। उन्होंने कहा कि अब मामले फिर से बढ़ रहे हैं और हमें अधिक सतर्क रहने की अवश्यक्ता है। उन्होंने सभी स्काउट्स को मास्क पहनने, लोगों को सार्वजनिक स्थानों पर उचित दूरी बनाने और स्वच्छता का ध्यान रखने के बारे में जागरूकता फैलाने में योगदान देने के लिए कहा।

निदेशक, उच्च शिक्षा, डाॅ. अमरजीत सिंह भी राजभवन में उपस्थित थे और राज्यपाल को मफलर और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। उन्होंने हिमाचल प्रदेश में भारत स्काउट्स और गाइड्स की विभिन्न गतिविधियों के बारे में भी राज्यपाल को जानकारी दी।

सीमा काॅलेज के प्रधानाचार्य बृजेश सिंह ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा।

राज्यपाल के सचिव राकेश कंवर, भारत स्काउट्स एंड गाइड्स के राज्य सचिव डाॅ. राज कुमार, यूनिट लीडर सीमा काॅलेज स्काउट्स डाॅ. अश्विनी कुमार शर्मा, सीमा स्काउट्स के संस्थापक सदस्य पंकज शर्मा और हिम्मत ठाकुर तथा छात्र स्काउट्स भी इस अवसर पर उपस्थित थे।