Fri. Apr 12th, 2024

राज्य स्तरीय कला उत्सव का हुआ समापन
एसडीएम ओम कांत ठाकुर ने विजेताओं को किया पुरस्कृत
शास्त्रीय संगीत में कांगड़ा की अनीता डोगरा रही प्रथम
मंडी, 9 नवम्बर। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान मंडी में समग्र शिक्षा के अंतर्गत राज्य स्तरीय कला उत्सव का समापन संस्कृति सदन कांगनीधार में किया गया जिसके मुख्य अतिथि एस डी एम सदर मंडी ओम कांत ठाकुर रहे। दो दिवसीय प्रतियोगिता में प्रदेश भर से 256 विद्यार्थियों ने भाग लिया।  एसडीएम सदर मंडी ओम कांत ठाकुर ने विजेताओं को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को राष्ट्रीय स्तर हेतु प्रतिभागियों का भाग लेने के लिए चयन किया गया।
ओम कान्त ठाकुर ने इस  अवसर पर कला उत्सव के सफल आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी। उन्होंने बच्चों से कहा कि जिला स्तरीय प्रतियोगिता में जीत के आना कम नहीं है। चैलेंज को स्वीकार करने वाले ही जीवन में सफल होते हैं और समाज में अपना नाम कमाते हैं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति के अंदर कला छिपी होती है। हमें उस कला को अपने जीवन में साथ लेकर चलना है। उन्हांेंने कहा कि बच्चों ने यहां अपनी कला के हुनर से कला कृतियों बनाकर शानदार प्रदर्शन किया है।उन्होंने विजेताओं को राष्ट्र स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने की शुभकामनाएं दी।
एसडीएम ने इससे पहले कला उत्सव में प्रतिभागियों द्वारा बनाई गई थ्रीडी और टूडी कला कृतियों का अवलोकन किया। उन्होंने इसके बारे में बच्चों से जानकारी ली और उन्हें अपने कला कौशल को और अधिक निखारने का आह्वान किया।
इस वर्ष कला उत्सव के लिए 10 कलाओं को सम्मिलित किया गया है जिनमें संगीत (गायन), शास्त्रीय संगीत, संगीत(गायन) पारंपरिक  लोक  संगीत ,संगीत (वादन )अनुबद्ध वाद्य संगीत वादन, स्वर वाद्य, नृत्य (शास्त्रीय नृत्य), नृत्य(लोक नृत्य) , दृश्य कला द्वि- आयामी दृश्य कला त्रि-आयामी, स्थानीय खिलौने एवं खेल, नाटक (एकल अभिनय) आदि आयोजित किए गए।
छात्रा वर्ग में संगीत गायन शास्त्रीय संगीत में अनीता डोगरा कांगड़ा  प्रथम , रिया सोलन द्वितीय, मनीषा मंडी तृतीय ,संगीत  गायन पारंपरिक लोक  संगीत में हिना वर्मा सोलन  प्रथम, संस्कृति ऊना द्वितीय अद्विका शर्मा हमीरपुर  तृतीय, संगीत वादन अन बद्ध वाद्य मे डिंपल सिरमौर प्रथम अर्पना कुल्लू द्वितीय, कशिश लाहौल स्पीति तृतीय संगीत वादन स्वर वाद्य  मे भूमिका सोलन प्रथम, गुंजन कांगड़ा द्वितीय, हरमन कौर ऊना तृतीय, शास्त्रीय नृत्य में हिमानी बिलासपुर प्रथम ,साक्षी नौटियाल सोलन द्वितीय, एंजेलिना ऊना तृतीय, नृत्य लोक नृत्य में  शालिनी चंबा प्रथम,   अध्यांशा किनौर द्वितीय, हिमानी कुल्लू और कनिका लाहौल स्पीति तृतीय , दृश्य कला द्वि आयामी में समृद्धि ठाकुर मंडी प्रथम, मोनिका पवार सिरमौर  द्वितीय , अदिति चौधरी कांगड़ा तृतीय ,दृश्य कला  त्रि- आयामी में  आंचल शिमला प्रथम, हिमांशी पाल मंडी द्वितीय नेहा ऊना तृतीय, स्थानीय खिलौने एवं खेल में शिवानी ऊना प्रथम   , और  अदिति कांगड़ा द्वितीय, सीमा चंबा तृतीय, नाटक एकल अभिनय मे सृष्टि मंडी प्रथम, अक्षिता सोलन द्वितीय, नूतन शिमला तृतीय स्थान पर रहे प् छात्र वर्ग में संगीत गायन शास्त्रीय संगीत में सागर मंडी प्रथम, भास्कर सोलन द्वितीय, आयान घाघटा शिमला तृतीय,  संगीत गायन पारंपरिक लोक संगीत में वंश ऊना  प्रथम, गौरव शर्मा सोलन द्वितीय, रोहित चौधरी कुल्लू तृतीय,संगीत वादन    अनबद्ध  वाद्य में अरमान कुल्लू प्रथम, चिराग सोलन द्वितीय ,सार्थक सिरमौर तृतीय , संगीत वादन स्वर वाद्य में  संचित शर्मा हमीरपुर प्रथम, इशांत ऊना द्वितीय, जय धीमान शिमला तृतीय, नृत्य शास्त्रीय नृत्य में  सार्थक धीमान सोलन प्रथम, शार्दुल चंबा द्वितीय, तुषार शिमला तृतीय, नृत्य लोक नृत्य में मनोहर लाल कुल्लू  प्रथम, निशांत दत्त चंबा द्वितीय, मनीष कुमार शिमला तृतीय, दृश्य कला द्वि आयामी में अखिल कांगड़ा प्रथम, पुनीत सूर्य चंबा द्वितीय, हर्ष कुमार सिरमौर तृतीय  ,दृश्य कला त्रि‐आयामी में रोहित जॉन कुल्लू प्रथम, आदित्य चंबा द्वितीय युधिष्ठिर मंडी तृतीय, स्थानीय खेल खिलौने एवं खेल में अमित ऊना प्रथम, आसिफ नारु सिरमौर द्वितीय, देवेंद्र रावत शिमला तृतीय ,नाटक एकल अभिनय में साहिल कांगड़ा प्रथम, आर्यन रिंता द्वितीय और गौरव शर्मा मंडी तृतीय स्थान पर रहे।
इस कार्यक्रम की समन्वयक मृदुला ठाकुर ने यह बताया कि इन प्रतियोगिताओं के लिए निर्णायक मंडल में देवदत्त कौडल , राजेश कुमार , प्रवीन रावत, वंदना दीक्षित, डॉ कल्याण चंद , कोषपाल ठाकुर, दीपक गौतम ,वीरेंद्र पाल , दीपक मट्टू ,शिवराम, कृष्णा ठाकुर, चेतन कपूर, राकेश कुमार , सीमा शर्मा, शुभम शर्मा , लतेश कश्यप तथा डॉ सुरेंद्र भारद्वाज जी रहे। राज्य  स्तरीय कला उत्सव में प्रथम आने वाले प्रतिभागी छात्र छात्राएं राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले कला उत्सव के लिए चयनित किए गए हैं।
कार्यवाहक प्रधानाचार्य व जिला परियोजना अधिकारी  सरिता शर्मा ने बताया कि इस प्रतियोगिता  का मुख्य उद्देश्य माध्यमिक स्तर के विद्यार्थियों की कलात्मक प्रतिभाओं को पहचानना तथा शिक्षा के क्षेत्र में कलाओं को बढ़ावा देना है। साथ ही उन्होंने आग्रह किया है कि जो प्रतिभागी राज्य स्तर के लिए चयनित हुए हैं वे और कड़ी मेहनत करें और अपनेमाता-पिता ,पाठशाला व हिमाचल प्रदेश का नाम रोशन करें। जिला परियोजना अधिकारी ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए निर्णायक मंडल ,डाइट फैकल्टी तथा प्रतिभागियों की तैयारी करवाने वाले अध्यापकों  का  धन्यवाद कियास कला उत्सव की इस प्रतियोगिता में राज्य कला उत्सव समन्वयक श्रीमती रेखा गुलरिया, डाइट का समस्त स्टाफ उपस्थित रहे।