Sun. Jun 16th, 2024

शिमला 28 सितम्बर: सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा एक सितम्बर से 30 सितम्बर तक आयोजित किए जा रहे राष्ट्रीय पोषण माह की कडी में आज बनुटी स्थित ग्राम पंचायत डुढालटी के प्रंागण में डुढालटी व घनाहटी पंचायत की स्वंय सहायता समूह की महिलाओं के लिए एक दिवसीय कार्यषाला का आयोजन किया गया । जिसमें राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा डेजी ठाकुर मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुई ।
इस अवसर पर उन्होंने एक बूटा बेटी के नाम योजना के तहत नन्ही कन्या के साथ अनार का पौधा रोपित किया और कन्या के परिजनों को अपने घर आंगन में अनार का पौधा रोपित करने के लिए दिया तथा स्वंय सहायता समूहों द्वारा स्थानीय खाद्य व्यंजनों की लगाई गई प्रदर्षनी का अवलोकन भी किया ।
इस अवसर पर डेजी ठाकुर ने कार्यषाला में उपस्थित महिलाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारम्भ देष के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 2017 में किया गया था तब से पोषण अभियान के माध्यम से नियमित रूप से कुपोषण बारे महिलाओं को जागरूक किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि महिलाओं का समाज व परिवार में अपना एक स्थान है और महिलाऐं पूरे परिवार का पोषण करने के साथ साथ परिवार को सहारा देने व सही रास्ते पर ले जाने में भी अहम भूमिका निभाती है । उन्होंने महिलाओं से आहवान किया कि वे कार्यषाला में हासिल की गई जानकारी को अपने तक सीमित न रखते हुए आसपास तथा पंचायत क्षेत्र की महिलाओं को जागरूक करने का कार्य करें ताकि कुपोषण को जड़ से खत्म किया जा सके ।
इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी बन्दना चैहान ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान करवाए गए कार्यो की जानकारी के साथ साथ घरेलू हिंसा तथा महिलाओं के अधिकारों की विस्तृत जानकारी दी । महिला एवं बाल विकास अधिकारी रूपा रानी ने भी कुपोषण से सुपोषण की ओर योजना पर जानकारी दी।
कार्यषाला में स्वास्थ्य कार्यकर्ता विरेन्द्र शर्मा ने कोविड-19 व अनीमिया की रोकथाम बारे जानकारी दी । इसी तरह कृषि विभाग से एसएमएस केके ठाकुर ने किचन गार्डन के फायदें बाताए, आयुर्वेद विभाग से डा0 निषा ने प्राकृतिक खेती तथा महिलाओं के खानपान पर तथा महिला आयोग के कानुन अधिकारी अनुज वर्मा ने आयोग की कार्ययोजना तथा महिलाओं के उत्पीड़न को रोकने पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी ।
कार्यक्रम के दौरान डेजी ठाकुर ने प्रदर्षनी में प्रदषर््िात अच्छे खाद्य व्यंजन बनाने वाली महिलाओं को सम्मानित किया तथा सभी महिलाओं को कुपोषण से सुपोषण, हर घर पोषण त्योहार तथा सही पोषण- देष रोषन पर आधारित शपथ भी दिलाई ।
इस अवसर पर जिला के सभी युनिटों के पर्यवेक्षक तथा 100 से अधिक महिला सदस्य उपस्थित रहीं ।