Sat. May 25th, 2024

कुल्लू 16 नवम्बर। राष्ट्रीय प्रेस दिवस के जिला स्तरीय समारोह का आयोजन जिला प्रेस क्लब कुल्लू में किया गया। इस वर्ष के दिवस का थीम ‘हू इज़ नॉट अफ्रेड ऑफ मीडिया’ निश्चित किया गया था। उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए मीडिया से जुडे़ समस्त सदस्यों को प्रेस दिवस की बधाई देते हुए कहा कि प्रेस दिवस मनाने का उद्देश्य मीडिया की स्वतंत्रता का स्मरण करने के साथ-साथ पत्रकारों को इस बात का भी आत्मविश्लेषण करने का मौका है कि हम कितनी विश्वसनीय और स्टीक पत्रकारिता करके समाज में अपना योगदान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मीडिया की सभी क्षेत्रों मंे अहम् भूमिका है। सामाजिक क्षेत्र हो या फिर राजनीतिक कहीं पर भी  मीडिया को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि खबरों से अपडेट रहना व्यक्ति का स्वभाव है और मीडिया समाज को सूचना व जानकारी का संचार बखूबी कर रहा है।
उन्होंने प्रेस दिवस का थीम ‘जो मीडिया से नहीं डरता है’ पर अपने वक्तव्य में कहा कि संविधान में सभी नागरिकों को समान अधिकार प्राप्त हैं। मीडिया से डरने का प्रश्न कानून की दृष्टि से कदाचित व्यवहार्य नहीं लगता है। हालांकि समाज में कोई भी व्यक्ति कानून का उल्लंघन करता है तो निश्चित तौर पर सजा का प्रावधान है। उन्होंने कहा जब जिम्मेवार पदों पर अथवा राजनीतिक पदों पर आसीन व्यक्ति जब अपनी जिम्मेवारियों का निर्वहन नहीं कर पाते हैं तो उन्हें मीडिया के सवालों का सामना करना पड़ता है। सम्भवतः यह स्थिति मीडिया से डरने वाली प्रतीत होती है। मीडिया समाज का प्रतिबिंब है और इसलिए यह जरूरी है कि मीडिया सामाजिक मुद्दों को बिना किसी भय के और पक्षपात के जनता के सामने उजागर करें।
जिला लोक संपर्क अधिकारी प्रेम ठाकुर ने स्वागत किया। उन्होंने कहा कि मीडिया समाज का आपस में संवाद करने का माध्यम है। उन्होंने कहा कि हमारे संविधान में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है और यहां मीडिया की स्वतंत्रता पर किसी प्रकार का दबाव नहीं है। दूसरे अनेक देशों में शासन द्वारा अपनी सुविधानुसार मीडिया की स्वतंत्रता को निश्चित किया जाता है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में सोशल मीडिया की जबरदस्त धमक से  पत्रकारिता के स्वरूप में बड़ा बदलाव आया है। लोगों को प्रत्येक घटना की त्वरित जानकारी प्राप्त करने की आदत हो चुकी है। पिं्रट मीडिया के अस्तित्व को निश्चित तौर पर इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया की मौजूदगी में बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि यह अच्छी बात है कि हमारे देश में आज भी अखबार पड़ने वालों की एक बड़ी कतार है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया को परिभाषित करना सुगम नहीं है। इंटरनेट के इस दौर में हर व्यक्ति मोबाईल के माध्यम से पत्रकार का कार्य कर रहा है।
जिला प्रेस क्लब कि प्रधान धनेश गौतम तथा वरिष्ठ पत्रकार श्याम कुल्लवी ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखे। राष्ट्रीय प्रेस दिवस का आयोजन प्रेस क्लब ऑफ मनाली के सदस्यों द्वारा परिधि गृह मनाली में किया गया।
इस अवसर पर जिला युवा कार्यक्रम अधिकारी सोनिका चन्द्रा, जिला भाषा अधिकारी सुनीला सहित जिला के प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सदस्य उपस्थित थे।