Wed. Apr 24th, 2024

रिवालसर के तीन दिवसीय राज्य स्तरीय छेश्चू मेले का राजस्व मंत्री ने किया शुभारंभ
तीन महीने में बनेगा रिवालसर के सौंदर्यीकरण का मास्टर प्लान- जगत सिंह नेगी
रिवालसर को पवित्र तीर्थ स्थल और खूबसूरत पर्यटक स्थल के तौर पर विकसित करने का होगा प्रयास

मंडी 18 फरवरी। राजस्व, बागवानी, जनजातीय विकास एवं जन शिकायत मंत्री जगत सिंह नेगी ने रिवालसर में गुरु पद्मसंभव की याद में उनके जन्मदिन पर मनाया जाने वाला तीन दिवसीय राज्य स्तरीय छेश्चू मेले का रविवार को शुभारंभ किया।
उन्होंने कहा कि रिवालसर को तीर्थ स्थल और पर्यटक स्थल के तौर पर विकसित करने के लिए मास्टर प्लान बनाया जाएगा। यह मास्टर प्लान अगले तीन महीने के अन्दर तैयार कर दिया जाएगा। मास्टर प्लान के तहत यहां की मूलभूत सुविधाओं को विस्तार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि रिवालसर में मल निकासी के लिए बनाए जा रहे सीवरेज को शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा ताकि गंदे पानी को पवित्र झील में जाने से रोका जा सके।
उन्होने रिवालसर की उप तहसील को तहसील में बदलने और इलाके में नए पटवार सर्कलों को खोलने की मांग पर उन्होंने कहा कि इसी वर्ष इन्हें खोलने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने सांस्कृतिक गतिविधियों के आयोजन के लिए रिवालसर में मंच बनाने की भी घोषणा की।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हिमाचल को फल राज्य बनाने के लिए प्रदेश सरकार दृढ़ संकल्प है। 1300 करोड़ रुपये का शिवा प्रोजैक्ट शुरू हो गया है। जिसमें छह हजार हेक्टेयर भूमि पर फल के पौधे लगाए जाएंगे। इससे 15000 बागवान लाभान्वित होंगे। मंडी जिला भी इसमें शामिल है। बागवानी विकास के लिए रिवालसर में उप बागवानी कार्यालय खोला जाएगा।
उन्होंने बताया कि कुछ ही महीनों के अंदर राजस्व अदालतों के माध्यम से 96000 इंतकाल के मामले निपटाए गए हैं। छह हजार तकसीम के मामलों को निपटाया गया है। यह मामले पिछले लम्बे समय से लंबित थे। उन्होंने कहा कि नए राजस्व एक्ट के अंतर्गत निशानदेही और तकसीम के मामलों का समयबद्ध निपटारा करना सुनिश्चित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में राजस्व अदालतों के माध्यम से तकसीम और निशानदेही के मामलों का भी निपटारा होगा।
नेगी ने आरोप लगाया कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश कमजोर हुआ है। चीन लद्दाख के अंदर पहुंच गया है। मणीपुर के हालत जगजाहिर हैं। उन्होंने कहा कि इलैक्ट्रोल बाण्ड के नाम पर भाजपा ने करोड़ो रुपये इक्टठा किए हैं। यह सारा पैसा भ्रष्टाचार का है। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद किया जिन्होंने इलेक्ट्रॉल बाण्ड को असंवैधानिक घोषित किया है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू द्वारा पेश किया गया बजट प्रदेश को स्वावलंबन की ओर ले जाएगा।  सरकार ने जन प्रतिनिधियों के मानदेय में उल्लेखनीय वृद्धि की है। मनरेगा की दिहाड़ी को 300 रुपये किया गया है। दूध के मूल्य बढाए हैं। लाहौल स्पीति की महिलाओं को इंदिरा गांधी सम्मान निधि के तौर पर 1500 रुपये मिलना शुरू हो जाएंगे और चरणबद्ध तौर पर पूरे प्रदेश की महिलाओं को 1500 रुपये मिलेंगे।
उन्होंने कहा कि रिवालसर तीन धर्मों का धर्म स्थल है और राज्य स्तरीय छेश्चू मेला एक प्रसिद्ध मेला है। यह मेला धार्मिक सौहार्द का अदभुत उदाहरण है। उन्होंने छेश्चू मेले की बधाई देते हुए सभी के जीवन में नई खुशियां आने की कामना की और कहा कि हम सब पर गुरु पद्मसंभव का आशीर्वाद बना रहे। उन्होंने कहा कि तिब्बत और भूटान में बौद्ध धर्म को पहुंचाने का श्रेय गुरू पद्मसंभव को जाता है।
इस अवसर पर प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विवि रिवालसर, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला रिवालसर की छात्राओं  तथा किसान महिला मण्डल धार द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए ।
कार्यक्रम में एपीएमसी अध्यक्ष संजीव गुलेरिया, पूर्व मंत्री फुंचोक राय, एसडीएम एवं मेला कमेटी के अध्यक्ष विशाल शर्मा, नायव तहसीलदार टेक चंद कश्यप, नगर पंचायत रिवालसर की अध्यक्ष सुनीता गुप्ता, ग्राम पंचायत लोअर रिवालसर की प्रधान कौशल्या देवी, सदस्य जनजातीय सलाहकार परिषद केसंग रापचिन सहित अन्य गणमान्य अतिथि उपस्थित रहे।