Sat. Mar 2nd, 2024

शिमला, 04 जुलाई
लाॅकडाउन के दौरान समाज में लोगों को सुरक्षा व सेवा प्रदान कर पुलिस विभाग ने दोहरी भूमिका निभाते हुए सहयोग दिया जो कि सराहनीय है। शिक्षा, विधि एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने आज पुलिस क्लब एवं नशा निवारण समिति ढली द्वारा कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करते हुए अपने संबोधन में यह विचार व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग द्वारा नशा निवारण के लिए भी व्यापक अभियान छेड़ा गया है। उन्होंने पुलिस विभाग द्वारा सघनता के साथ विभिन्न प्रकार के नशों की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि शिमला जिला के सभी पुलिस ठानों में तैनात पुलिस कर्मियों को कोरोना योद्धाओं के रूप में सुरक्षा किट प्रदान कर सम्मानित किया गया।
उन्होंने कहा कि कोरोना संकटकाल में समाज के विभिन्न वर्गों ने कोरोना संकट की लड़ाई को अपने विवेक और सामथ्र्य के साथ लड़ने में अपना योगदान दिया और सामाजिक निरंतरता की गति को बनाए रखा। उन्होंने कहा कि लोगों को राशन व भोजन की उपलब्धता, स्वच्छता बनाए रखने, स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने और विशेष रूप से मास्क आदि तथा सुरक्षा किटें लोगों को देने के लिए सभी ने मिलकर कार्य किया। उन्होंने कहा कि इन कोरोना योद्धाओं के सम्मान से जहां इनके कार्यों को प्रशंसा मिलती है वहीं भविष्य में कार्य करने के लिए प्रोत्साहन भी प्राप्त होता है।
उपमण्डलाधिकारी शहरी नीरज चांदला ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार की नीतियों एवं दिशा-निर्देशों के अनुरूप कार्य करते हुए प्रशासन द्वारा कोरोना संकटकाल में लोगांे को सुविधाएं प्रदान की गई। उन्होंने कहा कि शिमला शहर व जिला को कोरोना मुक्त जिला बनाए रखने में सभी स्वैच्छिक, राजनैतिक, धार्मिक, सामाजिक संस्थाओं का साथ मिला।
इस अवसर पर संस्था के अध्यक्ष एन.एस. बगानिया ने बताया कि संस्था द्वारा समय-समय पर विभिन्न सामाजिक कार्यों का आयोजन कर समाज के प्रति अपने दायित्व का निर्वहन संस्था द्वारा किया जाता है। नशा निवारण संस्था का मूल उद्देश्य है जिसके लिए समाज में शिविरों, परामर्श कार्यक्रमों तथा विद्यालयों व महा विद्यालयों में जाकर छात्रों से परस्पर संवाद आदि कर नशा निवारण के संबंध में जागरूकता एवं जागृति प्रदान की जाती है। उन्होंने बताया कि आज शिमला नगर के विभिन्न क्षेत्रों एवं विभिन्न व्यवसायों से संबंध रखने वाले लोगों को सम्मानित किया गया, जिन्होंने संकटकाल में अपनी सेवाएं समाज को प्रदान की।
इस अवसर पर महापौर सत्या कौंडल, उप-महापौर शैलेन्द्र चैहान, पार्षद राजेन्द्र चैहान, डाॅ. किमी सूद, जसविन्द्र, पूर्ण मल, कुसुम्पटी मण्डल अध्यक्ष जितेन्द्र भोटका, संस्था के मुख्य सलाहकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता विजय, जिला शिमला मण्डल सचिव विभूमि ढडवाल, उपाध्यक्ष कुसुम्पटी मण्डल राज कुमार कश्यप, मीडिया प्रभारी कल्पी शर्मा, संस्था के चीफ पैटर्न सरदार जसपाल सिंह, महा सचिव नीरज गुप्ता, उपाध्यक्ष मुकेश वर्मा, सचिव देवेन्द्र गुप्ता, गौरव शर्मा तथा कोषाध्यक्ष सीमी सूद भी उपस्थित थी।
.0.