Wed. Apr 24th, 2024

\वैक्सीन की दोनों डोज के बाद ही प्रवेश कर पाएंगे दशहरा उत्सव में टास्क फोर्स की बैठक में बोले डीसी आशुतोष गर्ग

जिलाधीश आशुतोष गर्ग ने कहा कि दशहरा उत्सव में देवी देवताओं के साथ आने वाले सभी देवलूओं, पुजारियों व कार कूनो को कोरोना  वैक्सीन की दोनों डोज लगवानी होगी। जिस व्यक्ति को एक डोज प्राप्त हुई है और 84 दिन की अवधि पूरी नहीं हुई है वह व्यक्ति देवता के साथ ढालपुर मैदान नहीं आ सकेगा। उन्होंने कहा कि उत्सव में बड़ी संख्या में लोग और श्रद्धालु आएंगे और इसके दृष्टिगत महामारी के प्रसार को रोकने के लिए एहतियाती उपाय करना और सख्त कदम उठाना अनिवार्य है।
आशुतोष गर्ग ने बताया कि जिला में 340 237 लोगों को कोरोना  की पहली डोज उपलब्ध करवाई गई है और दूसरी डोज 173034 लोगों ने ही प्राप्त की है और इस तरह अभी तक केवल 50% लोगों को दूसरी डोज लगी है। उन्होंने चिंता जाहिर की कि जिला में लगभग 36000 लोग ऐसे हैं जिन्हें पहली डोज प्राप्त किए 84 दिन की अवधि पूरी हो गई है लेकिन दूसरी वैक्सीन के लिए स्वास्थ्य केंद्रों पर नहीं पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि ढालपुर मैदान में स्वास्थ्य विभाग द्वारा दशहरा के दौरान तीन विशेष काउंटर स्थापित किए जाएंगे जिनमें लोगों का वैक्सीनेशन करने की सुविधा प्रदान की जाएगी ‌ । ढालपुर मैदान में स्थानीय लोगों के अलावा बाहरी प्रदेशों से आने वाले सैलानियों व प्रवासी लोगों को भी वैक्सीन प्रदान की जाएगी।
जिलाधीश ने समाज कल्याण विभाग को निर्देश दिए कि जिला के समस्त आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका कल से ही घर  घर जाकर लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करेंगीं और जिन लोगों को पहली वैक्सीन प्राप्त किए  84 दिन की अवधि पूरी हो गई है उनकी सूची तैयार करके स्वास्थ्य विभाग को अथवा उनके कार्यालय में सौंपेगी।
 उन्होंने कहा कि एक आंगनवाड़ी के अंतर्गत केवल 300 लोग हैं और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से अपेक्षा की कि अगले तीन-चार दिनों के भीतर सभी घरों में वैक्सीनेशन के स्टेटस का पता करके इसकी सूची तैयार कर ले और लोगों को दूसरी डोज प्राप्त करने के लिए प्रेरित करें और आग्रह करें। उन्होंने कहा कि गांव के क्लस्टर बनाकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा मोबाइल वैन के माध्यम से भी लोगों को घर द्वार के समीप वैक्सीन की दूसरी डोज उपलब्ध करवाई जा सकती है।
आशुतोष गर्ग ने शिक्षा विभाग से भी आग्रह किया की स्कूलों में बच्चों के माध्यम से तथा अभिभावकों के व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से पात्र लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज प्राप्त करने के लिए स्वास्थ्य केंद्र पहुंचने के लिए कहा जाए। उन्होंने पंचायती राज संस्थानों के चुने हुए प्रतिनिधियों से भी आग्रह किया कि वह अपनी पंचायत के उन सभी लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए कहे जिन्होंने पहली डोज प्राप्त किए 84 दिन की अवधि पूरी कर ली है और यह भी लोगों को अवगत करवाया जाना चाहिए कि वैक्सीन केटीके के बिना भीड़भाड़ के क्षेत्र में अथवा दशहरा उत्सव में आने का परहेज करें। उपायुक्त ने कहा कि जिन लोगों को खांसी जुखाम जैसे लक्षण हो वह दशहरा उत्सव के दौरान ढालपुर मैदान में ना आएं क्योंकि वह स्वयं संक्रमित हो सकते हैं और दूसरों में भी इसे प्रसारित कर सकते हैं।
जिलाधीश ने चुनाव ड्यूटी में तैनात सभी कर्मियों से अपील की है कि वह वैक्सीन की दूसरी डोज शीघ्र लगवा ले। दूसरी डोज के प्रति समस्त एसडीएम खंड विकास अधिकारियों व स्वास्थ्य विभाग से भी लोगों को जागरूक करने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि दशहरा उत्सव में आने वाले देवताओं के रूट पर अथवा जहां कुछ देवता एक ही रास्ते में एकत्र होंगे वहां पर उपमंडल स्तर पर टी में रहेंगे जो देव समाज से जुड़े लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करेंगे और उनके वैक्सीनेशन की स्थिति का पता लगाएंगे।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुशील चंद्र ने कहा कि कोरोनावायरस इनकी दोनों डोज प्राप्त करने के बाद व्यक्ति में एंटीबॉडी बनती है और काफी हद तक व्यक्ति महामारी के प्रकोप से सुरक्षित हो जाता है। उन्होंने तमाम सब लोगों से अपील की जिन्हें 84 दिन की अवधि पूरी हो गई है वह अपनी दूसरी डोज जल्द से प्राप्त कर लें और अपने आप को सुरक्षित करें। उन्होंने कहा कि दोनों डोजप्राप्त करने के बाद न केवल व्यक्ति अपने आप को सुरक्षित कर पाता है बल्कि उसका परिवार भी सुरक्षित हो जाता है। उन्होंने कहा की दशहरा उत्सव में  आने के लिए दोनों डोज सुनिश्चित कर लें ताकि किसी प्रकार के संक्रमण के प्रसार का खतरा ना रहे।
                     -0-