Tue. May 28th, 2024

शहरी विकास, आवास, नगर नियोजन, संसदीय कार्य, विधि एवं सहकारिता मंत्री सुरेश भारद्वाज ने आज

शिमला, 26 सितम्बर
शहरी विकास, आवास, नगर नियोजन, संसदीय कार्य, विधि एवं सहकारिता मंत्री सुरेश भारद्वाज ने आज यहां ऐतिहासिक रिज मैदान में भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण तथा स्वास्थ्य सुरक्षा एवं विनियमन विभाग के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित दो दिवसीय ईट राइट मेले के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की।
उन्होंने बताया कि भारत के आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। मेले का मुख्य उद्देश्य लोगों को स्वस्थ आहार के बारे में अवगत करवाना है ताकि हमारे आचार व्यवहार के साथ-साथ हमारा आहार भी शुद्ध रहे। इसके अतिरिक्त मेले के माध्यम से और भी विभिन्न प्रकार की जानकारी लोगों को प्रदान की गई है।
उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश प्राकृतिक खेती की ओर अग्रसर है जिससे प्रदेश के लोगों को स्वस्थ आहार उपलब्ध होगा।
उन्होंने बताया कि ‘‘ईट स्मार्ट चैलेंज’’ स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत शुरू किया गया है, जिसके तहत शिमला शहर के स्वस्थ आहार में विशेष ध्यान दिया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत शिमला शहर को ईट स्मार्ट की श्रेणी में शामिल करने के हर संभव प्रयास किए जाएंगे, जिससे आर्थिकी के साथ-साथ पर्यटन के क्षेत्र में भी बढ़ावा होगा और लोगों को खाने के सुरक्षित विकल्प प्रदान होंगे।
उन्होंने बताया कि मेले की मुख्य विशेषता यह भी है कि लोग सेहतमंद जीवन के लिए सुरक्षित और स्वस्थ भोजन के साथ-साथ शारीरिक फिटनेस के महत्व को भली भांति समझे और इस संदेश को अधिक से अधिक लोगों तक फैलाने में अपना योगदान दें तथा ईट राइट इंडिया के संदेशों को मुख्यधारा में लाया जा सके तथा अधिक से अधिक लोगों को फोर्टीफाइड फुट और न्यूट्रिया सीरियल को अपने भोजन में शामिल करें।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने मेले के दौरान आयोजित विभिन्न प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले प्रतिभागियों को भी सम्मानित किया।
निदेशक स्वास्थ्य सुरक्षा एवं विनियमन विभाग सुमित खिम्टा ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया तथा विभाग द्वारा की जा रही विभिन्न गतिविधियों के बारे में अवगत करवाया।
इस अवसर पर नगर निगम महापौर सत्या कौंडल, पार्षद दीप शर्मा, अध्यक्ष शिक्षा प्रकोष्ठ गुरु दत्त शर्मा, उपमंडलाधिकारी शिमला बीआर शर्मा, भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण निदेशक राजेश सिंह, सहायक निदेशक डॉ विनोद कुमार, असिस्टेंट कमिश्नर फूड सेफ्टी डॉ विजया गौतम, एसीएफ एंड ए रामेश्वर शर्मा एवं गणमान्य लोग उपस्थित थे।