Thu. May 30th, 2024

शिमला, 19 अगस्त:
आकस्मिक परिस्थितियों में रक्त की आवश्यकता से जूझ रहे व्यक्ति के लिए रक्तदान जीवन दान है। यह विचार आज शहरी विकास, आवास, नगर नियोजन, संसदीय कार्य, विधि एवं सहकारिता मंत्री सुरेश भारद्वाज ने आज रिज मैदान में राज्य मानव अधिकार संरक्षण फाउंडेशन द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर का शुभारंभ करने के उपरांत व्यक्त किए।
उन्होंने बताया कि रक्तदान कर रक्तदाता जहां प्रत्यक्ष रूप से सामाजिक सहयोग में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करता है वहीं परोक्ष रूप से सामुदायिक सहायता के लिए अपना बहुमूल्य कार्य निभाता है।
उन्होंने कहा कि राज्य मानव अधिकार संरक्षण फाउंडेशन ने इस शिविर का आयोजन करके उत्कृष्ट कार्य किया है। जहां दान में दिया गया रक्त असहाय तथा निर्धन लोगों की सहायता करता है वहीं दीर्घा में सबसे नीचे रह रहे रोगी जो गंभीर बीमारी से ग्रस्त होता है उस रोगी को रक्त दिए गए दान से सहायता प्राप्त होती है।
उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश, पुलिस एवं होमगार्ड के कर्मचारियों ने भी रक्तदान करके अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने शहर की युवा पीढ़ी से भी आग्रह किया कि वे भी इस रक्तदान शिविर में अपनी भागीदारी निभाएं।
उन्होंने इस दौरान कोरोना काल में अहम भूमिका निभाने वाले कोरोना वाॅरियर्स एवं रक्तदान शिविर में अपना रक्त देने वालों को भी सम्मानित किया तथा उनके इस उत्कृष्ट कार्य के लिए उनकी सराहना की।
इस दौरान राज्य मानव अधिकार संरक्षण फाउंडेशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रदीप सिंह, प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती संगीता सूद, महा सचिव सुनिल कुमार, उपाध्यक्ष बृज मोहन, अमर सिंह, अनुप, नीशा, पुनीता, नेहा, अकांक्षा तथा अन्य लोग उपस्थित थे।
.0.