Wed. Apr 24th, 2024

शिमला, 28 नवम्बर
सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को समय रहते पूर्ण करें अधिकारी यह बात आज वन एवं खेल मंत्री राकेश पठानिया द्वारा ठियोग के सर्किट हाउस में उपमण्डल ठियोग अधिकारियों के साथ पूर्ण सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करने के उपरांत कही।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में विकास के लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही है। इन योजनाओं का लोगों को अधिक से अधिक लाभ प्राप्त हो सके, इसके लिए अधिकारियों का दायित्व बनता है कि वह इन योजनाओं का लाभ लोगों को प्रदान करने के लिए अपनी सक्रिय भूमिका निभाए तथा सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी आमजन तक पहुंचाने में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें।
उन्होंने आगामी बर्फबारी के दौरान विद्युत आपूर्ति को सुचारू बनाए रखने के लिए भी विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए। उन्होंने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना तथा उपमण्डल ठियोग में किए जा रहे अन्य सड़क कार्यों में अधिकारियों को आदेश दिए कि वह कार्य की गुणवत्ता का ध्यान रखते हुए क्षेत्र में सड़कों के कार्य को समय रहते पूर्ण करवाएं।
इस दौरान उनके द्वारा सैंज नर्सरी केन्द्र का औचक निरीक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि इस नर्सरी केन्द्र को जायका प्रोजेक्ट के तहत स्तरोन्नत किया गया है। इस नर्सरी केन्द्र का क्षेत्रफल पहले डेढ़ हेक्टेयर था, जिसे अब पोजेक्ट के तहत ढ़ाई हेक्टेयर कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि पहले इस नर्सरी केन्द्र की क्षमता ढ़ाई लाख पौधों की थी, जायका प्रोजेक्ट के तहत बढ़ाकर 4 लाख 20 हजार पौधों की क्षमता का केन्द्र बना दिया गया है।
उन्होंने कहा कि इस नर्सरी को सेन्टर नर्सरी के रूप में विकसित किया जाएगा और आगामी दिनों मंे नर्सरी केन्द्र को आधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण किया जाएगा। उन्होंने विभाग के उच्च अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस नर्सरी केन्द्र में जहां देवदार, बान, तोषी, चिल, मौरू नर्सरी की प्रजातियां तैयार की जाती है, उसी तरह उन्होंने आदेश दिए कि स्थानीय लोगों को आवश्यकता अनुसार नर्सरी के पौधों को भी तैयार किया जाए तथा जरूरत अनुरूप उन्हें स्थानीय जनता में वितरित किया जाए।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में वनों में वृ़क्षों का नवीनीकरण कर प्राकृतिक संतुलन बनाना है। उन्होंने इस नर्सरी केन्द्र में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा किए जा रहे कार्यों की भी सराहना की।
उन्होंने कोविड महामारी के बढ़ते प्रकोप के विषय में कहा कि सरकार द्वारा 25 नवम्बर से लेकर 27 दिसम्बर, 2020 तक हिम सुरक्षा अभियान आरम्भ किया गया है। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य हर गांव में रह रहे हर व्यक्ति की कोरोना महामारी की जांच करना है।
इस दौरान अतिरिक्त प्रधान मुख्य अरण्यपाल संजय सूद, मुख्य अरण्यपाल राकेश कुमार गुप्ता, उपमण्डलाधिकारी ठियोग सौरल जस्सल, डीएसपी कुलविन्द्र सिंह, मण्डलाध्यक्ष ठियोग दुनी चंद कश्यप, उपाध्यक्ष ठियोग मण्डल सत्य प्रकाश वर्मा, महामंत्री कमलेश शर्मा तथा सतीश राठौर, किसान मोर्चा अध्यक्ष संदीप सलोटा, जिला उपाध्यक्ष महासु एवं एपीएमसी निदेशक नानक चंद, जिला पंचायती राज अध्यक्ष राजेन्द्र चंदेल, वन मण्डल अधिकारी अशोक नेगी, खण्ड विकास अधिकारी जगदीश कंवर, अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग विजय चैहान, सहायक अभियंता जल शक्ति विभाग प्रदीप चैहान, सहायक अभियंता बिजली विभाग ओंकार सिंह, नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी अनिल अमरयिक, वरिष्ठ पशुपालन अधिकारी डाॅ. हतिन्द्र तथा अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे। .0.