Tue. Apr 23rd, 2024

सोलन, 5 फरवरी

शूलिनी विश्वविद्यालय में कैंसर जागरूकता सप्ताह की शुरुआत श्री सर्बजीत सिंह के साथ योगानंद गुरु श्रृंखला वेबिनार के साथ की गई, जिन्हे वेला बॉबी के नाम से भी जाना जाता है, जो अपना अधिकतर समय सामाजिक कार्यों में व्यतीत करते है ।
श्री सिंह हिमाचल प्रदेश के वंचित लोगों के उत्थान और उनकी सेवा के लिए एक दशक से लगातार काम कर रहे हैं। वह असंख्य रक्तदान शिविरों के आयोजन के अलावा दाह संस्कार के लिए गरीबों और अज्ञात लोगों के शवों के लिए परिवहन सेवाओं का भी प्रबंध करते है । वह IGMC शिमला में कैंसर रोगियों और उनके परिचारकों के लिए एक मुफ्त कैंटीन भी चलाते है।
वेबिनार में बोलते हुए श्री सर्बजीत सिंह ने बताया कि समाज में जरूरतमंद लोगों की मदद करना बहुत महत्वपूर्ण है और कठिन समय में दूसरों की मदद करनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि मानवता सबसे बड़ा धर्म है और सभी को मानवता का अभ्यास करना चाहिए।

डीन स्टूडेंट्स वेलफेयर श्रीमती पूनम नंदा ने कहा कि कैंसर जागरूकता सप्ताह के मद्देनजर ऑफ लाइन और ऑनलाइन मोड दोनों में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। गतिविधियों में शामिल हैं गुरु बातचीत, चैरिटी के लिए धन जुटाने के लिए फूड स्टॉल, एक क्रिकेट मैच, जुंबा फन और फिटनेस, कैंसर जागरूकता सत्र, पोस्टर प्रतियोगीता और ज़ूम पर संगीत संध्या। उन्होंने कहा कि सभी फंड सरबजीत की चैरिटी को दिए जाएंगे। सभी कार्य Youwecan फाउंडेशन के शूलिनी छात्र स्वयंसेवकों द्वारा की गई।

कुलपति प्रोफेसर अतुल खोसला ने वेबिनार में श्री सरबजीत सिंह का स्वागत किया और कहा कि हमें अच्छे काम के लिए लोगों को प्रभावित करने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दूसरों के लिए काम करने और समाज को अपनी सेवाएं देने से अधिक रोमांचक कुछ नहीं है।