Sun. Jul 14th, 2024

स्वास्थ्य विभाग ने लगाया पुरुष नसबंदी जागरूकता शिविर

मंडी, 03 दिसम्बर।  स्वास्थ्य विभाग मंडी में जिला स्तरीय पुरुष नसबंदी (एन.एस.वी) जागरूकता पखवाड़ा के तहत शुक्रवार को मंडी जिले के इंडस्ट्रियल क्षेत्र रत्ती में एक दिवसीय जागरूकता शिविर का आयोजन किया । शिविर की अध्यक्षता करते हुए जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश ठाकुर ने कहा कि पुरुष नसबंदी एक छोटा स्थाई, प्रभावशाली एवं सुरक्षित गर्भनिरोधक उपाय है, जिसमें न चीरा न टांका लगता है और यह ऑपरेशन मात्र 10 मिनट में किया जाता है तथा इससे कोई भी समस्या व दुष्प्रभाव नहीं होते।  व्यक्ति को अस्पताल में रहने की भी आवश्यकता नहीं होती ।
उन्होंने कहा कि एक छोटी सी शल्य क्रिया के बाद व्यक्ति जीवन के सामान्य दैनिक कार्य स्वयं करके एक सफल जिंदगी व्यतीत कर सकता है। एहतियात के तौर पर उसे 7 दिन तक भारी कार्य व संभोग नहीं करना चाहिए तथा नसबंदी के बाद 3 महीने तक निरोध का इस्तेमाल करने की हिदायत दी जाती है।  दो बार  वीर्य की जांच करवाना जरूरी है।
जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. पवनेष ने बताया कि बढ़ती हुई जनसंख्या को रोकने के लिए महिलाओं के साथ-साथ पुरूषों को भी अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए इसके लिए पूरे जिला में पुरुष नसबंदी जागरूकता पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है। आषा व स्वास्थ्य कार्यकर्ता पोस्टर तथा हैंड बिल वितरित करके लोगों को जागरूक कर रही हैं। परिवार नियोजन के विशेष कैंप लगाए जा रहे हैं।
इस अवसर पर स्वास्थ्य  शिक्षक सोहन लाल ने परिवार नियोजन के महत्व के बारे में जानकारी दी । । इस कार्यक्रम में जागृति फाउंडेशन ने उपस्थित  कामकाजी लोगों की रक्तचाप और शुगर के टेस्ट किए। शिविर में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों, आशा- आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के अलावा लगभग 100 लोगों ने भाग लिया।