Sun. Dec 3rd, 2023

मंडी, 7 जुलाई : मंडी का वन स्टॉप सेंटर हिंसा से पीड़ित महिलाओं एवं बालिकाओं को एक ही छत के नीचे एकीकृत रूप से सहायता एवं सहयोग प्रदान करने में बहुत उपयोगी सिद्ध हो रहा है। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी मंडी सुरेंद्र तेगटा ने बताया कि इस सेंटर में निजी और सार्वजनिक जगहों पर हिंसा से प्रभावित महिलाओं को सहायता प्रदान की जा रही है।
केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के निर्देशानुसार मंडी शहर में जेल रोड़ स्थित वर्किंग वूमन होस्टल में खोले गए इस वन स्टॉप सेंटर में सभी तरह की हिंसा से पीड़ित महिलाओं और बालिकाओं को अस्थाई रूप से रूकने की सुविधा प्रदान की जा रही है, ताकि उन्हें किसी सहारे के लिए भटकना न पड़े।
प्रदेश का महिला एवं बाल विकास विभाग इस योजना के कार्यान्वयन के लिए नोडल विभाग के तौर पर काम कर रहा है।
सुरेंद्र तेगटा ने बताया कि मंडी वन स्टॉप सेंटर में लॉक डाउन के दौरान 4 महिलाओं को आश्रय प्रदान किया गया, जिन्हें काउंसलिंग और चिकित्सा सुविधा से लेकर कानूनी सहायता तक निःशुल्क उपलब्ध करवाई गई। वन स्टॉप सेंटर में अभी तक 24 पीड़ित महिलाओं को आश्रय प्रदान किया जा चुका है।
वन स्टॉप सेंटर उन सभी महिलाओं के लिए मददगर बना है जो किसी भी प्रकार की हिंसा से पीड़ित हैं। सेंटर में ऐसी पीड़ित महिलाओं, जिनमें 18 वर्ष से कम आयु की बालिकाएं भी शामिल हैं, को न केवल आश्रय दिया जाता है बल्कि उन्हें तत्काल चिकित्सा, मनौवैज्ञानिक एवं कानूनी परामर्श आदि आपातकालीन और गैर आपातकालीन सुविधाएं भी निःशुल्क उपलब्ध करवाई जा रही है ।
इन नंबरों पर करें संपर्क
सुरेंद्र तेगटा ने कहा कि कोई भी पीड़ित महिला सेंटर में आकर यहां की सुविधाओं का लाभ ले सकती है। पीड़ित महिला किसी प्रकार की सहायता व सहयोग पाने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग मंडी के दूरभाष नम्बर 01905-223845 और वन स्टॉप सेंटर की प्रभारी के मोबाइल नम्बर 94591-02832 पर सम्पर्क कर सकती है।