Sat. Mar 2nd, 2024

शिमला 6 सितम्बर 2020
हिमाचल प्रदेश आयुर्वेदिक चिकित्साधिकारी परिषद् की बैठक आज पीटरहाॅफ में आयोजित की गई, जिसकी अध्यक्षता स्वास्थ्य, परिवार कल्याण एवं आयुर्वेद मंत्री राजीव सहजल ने की।
उन्होनें कहा की कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान आयुर्वेद विभाग की सशक्त भूमिका रही है। आयुर्वेदिक चिकित्सक भी इस वैश्विक महामारी में सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चले।
उन्होनें कहा कि यदि विश्व स्तर पर पहचान बनानी है तो आयुर्वेद चिकित्सा पद्वति को अपनाना पड़ेगा जिसके लिए इस पद्वति के आम जन तक पहुंचाने में कारगर कदम उठाने की आवश्यकता है। उन्होनें कहा कि यह हम सब की सामूहिक जिम्मेवारी होनी चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा लोग आयुर्वेद चिकित्सा प्रणाली का फायदा उठा सके।
बैठक में हिमाचल आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी एसोसिएशन राज्य इकाई द्वारा अपनी मांगो के संबंध में मांग पत्र सोंपा। स्वास्थ्य मंत्री ने उनकी मांगों पर गंभीरतापूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया।
इस अवसर पर निदेशक आयुर्वेदा डी.के. रत्न, डाॅक्टर के.डी. शर्मा, जिला आयुर्वेद अधिकारी, संयुक्त निदेशक डाॅक्टर राखी सिंह, के.डी. शर्मा हिमाचल आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी, एसोसिएशन राज्य इकाई के अध्यक्ष डाॅक्टर केशव वर्मा तथा डाॅक्टर अश्वनि शर्मा महासचिव उपस्थित थे।