Wed. Apr 24th, 2024

मंडी के बल्ह क्षेत्र के राजगढ़-खियुरी में चयनित की गई है 43.5 बीघा जमीन, अधिकारियों ने किया निरीक्षण
मंडी, 18 जून । हिमाचल प्रदेश में पहली एनसीसी (राष्ट्रीय कैडेट कोर) अकादमी के निर्माण को लेकर कवायद तेज हो गई है। इसे लेकर अधिकारियों की टीम ने मंडी जिले के बल्ह क्षेत्र के गांव राजगढ़-खियुरी में अकादमी बनाने के लिए चयनित भूमि का निरीक्षण किया। बता दें, हिमाचल सरकार ने एनसीसी अकादमी के निर्माण के लिए बल्ह के राजगढ़-खियुरी में करीब 43.5 बीघा भूमि चिन्हित की है।
पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश व चंडीगढ़ निदेशालय के अतिरिक्त निदेशक जनरल मेजर जनरल जसवीर सिंह संधू (एवीएसएम) ने अधिकारियों के साथ वीरवार सायं भूमि का निरीक्षण किया।
इस मौके समूह मुख्यालय शिमला के ग्रुप कमांडर ब्रिगेडियर राजीव ठाकुर (एसएम, वीएसएम) और द्वितीय वाहिनी एनसीसी मंडी के कमानाधिकारी कर्नल अनुज सिंह लुथरा (एसएम) और उनकी टीम के सदस्य भी मौजूद थे ।
इस अवसर पर मेजर जनरल जसवीर सिंह संधू ने कहा कि उनके दौरे का मुख्य मकसद हिमाचल सरकार द्वारा एनसीसी अकादमी खोलने को दी गई जमीन देखना था ताकि यह पता चल सके कि यहां भूमि विकास के लिए क्या काम करने की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि बहुत से राज्यों में एनसीसी ट्रेनिंग के लिए अकादमी अथवा स्कूल हैं। हिमाचल में भी एनसीसी अकादमी बनने से कैडेट्स को प्रशिक्षण और कैंप की बड़ी सुविधा मिलेगी। खासकर आउटडोर ट्रेनिंग व कैंप लगाने में सहुलियत होगी।
वहीं, इस बारे उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार प्रशासन ने एनसीसी अकादमी बनाने के लिए खियुरी में करीब 43.5 बीघा भूमि चिन्हित की है। इसमें से 18 बीघा भूमि उच्च शिक्षा विभाग के नाम स्थानांतरित की जा चुकी है, शेष भूमि के फॉरेस्ट स्वीकृति को लेकर मामला भेजा गया है। इसके सिरे चढ़ते ही शीघ्र आगामी प्रक्रिया अमल मे लाई जाएगी।