Tue. May 28th, 2024

शिमला, 05 अगस्त
1 अगस्त से 7 अगस्त, 2021 तक बाल विकास परियोजना शिमला शहरी के अंतर्गत अंतर्राष्ट्रीय स्तनपान सप्ताह मनाया जा रहा है। इसी कड़ी में आज परियोजना द्वारा खण्ड स्तरीय वेबीनार का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता सक्षम गुड़िया बोर्ड की उपाध्यक्षा श्रीमती रूपा शर्मा ने की।
उन्होंने बताया कि इस वर्ष स्तनपान सप्ताह की थीम ‘स्तनपान की सुरक्षा: एक सहभागितापूर्ण जिम्मेदारी है’ हैं। उन्होंने बताया कि सप्ताह के दौरान आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से डिजिटल प्लेटफाॅर्म व भौतिक रूप से विभिन्न गतिविधियों का आयोजन कर स्तनपान के महत्व बारे प्रचार-प्रसार के लिए किया जा रहा है।
उन्होंने सम्पूर्ण स्तनपान के नियमों का पालन करने की शपथ दिलवाई व विश्व स्तनपान के अवसर पर समाज के सभी वर्गों को यह संदेश दिया कि लक्षित समूहों को शिशु के लिए कोलाॅस्ट्रम के महत्व, सम्पूर्ण स्तनपान व छः माह के बाद समूचित अनुपूरक आहार के बारे में जागरूकता फैलाने में सहयोग दें ताकि पोषण की समस्या से निपटा जा सके व बच्चे की वृद्धि व विकास का मार्ग प्रशस्त हो सके।
इस अवसर पर कम्युनिटि मेडिसिन विभाग से डाॅक्टर अमित सचदेवा द्वारा इष्टतम शिशु आहार प्रथाओं पर विस्तृत जानकारी दी।
बाल विकास परियोजना अधिकारी शिमला (शहरी) ममता पाॅल ने बताया कि इसी कड़ी में 1 अगस्त को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा अपने-अपने आंगनबाड़ी केन्द्रों में पंजीकृत गर्भवती व धात्री माताओं के वाॅट्सऐप गु्रप बनाकर हर माता के साथ स्तनपान सप्ताह के शुभारंभ के अवसर पर पहुंच बनाना सुनिश्चित किया। 2 अगस्त को सभी 82 केन्द्रों में पोषाहार वितरण, आंगनबाड़ी स्तरीय बैठकें आयोजित करने के साथ-साथ गर्भवती व धात्री माताओं के विशेष परामर्श सत्रों का भी आयोजन किया गया।
उन्होंने बताया कि केन्द्रों में गर्भावस्था के दौरान स्वास्थ्य एक पोषण के महत्व को समझाने के लिए गोद भराई के कार्यक्रम किए गए, जिनके माध्यम से आह्वान किया गया कि सम्पूर्ण स्तनपान करवाने में माता को परिवार का समर्थन व योगदान मिले। 3 अगस्त को बाल विकास परियोजना अधिकारी व फील्ड कार्यकर्ताओं द्वारा टेली काॅउसलिंग के माध्यम से 150 धात्री माताओं में दूध पिलाने से संबंधित समस्याओं व उनके समाधान बारे सम्पर्क बनाया गया तथा मां के दूध से वंचित बच्चों में होने वाली बीमारियों व कुपोषण के बारे में अवगत करवाया। 4 अगस्त को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा गृह भ्रमण कर परिवार के सदस्यों को केवल स्तनपान बारे जागरूक किया। उन्होंने बताया कि 7 अगस्त, 2021 तक इसी तरह की गतिविधियां आयोजित कर सम्पूर्ण स्तनपान के लिए प्रेरित किया जाएगा।
.0.