Sun. Jun 16th, 2024

मंडी, 6 अक्तूबर: उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर की अध्यक्षता में आज यहां जोनल अस्पताल मंडी की रोगी कल्याण समिति की गवर्निंग परिषद की बैठक हुई। बैठक के दौरान अस्पताल में विभिन्न स्वास्थ्य सुविधाएं को ओर अधिक सुदृढ़ करने पर विशेष बल दिया गया।
उपायुक्त ने बताया कि विगत वर्ष के दौरान समिति द्वारा 4 करोड़ 97 लाख 50 हजार की आय जबकि साढ़े 3 करोड़ की राशि विभिन्न सुविधाओं पर व्यय की गई। उन्होंने कहा कि समिति अस्पताल में रोगियों को दी जाने वाली सुविधाओं में सुधार और सहायता को और मजबूती दे। उन्होंने कहा कि समिति की रोगियों के कल्याण के लिए सरकार द्वारा चलाई गई जनहितैषी योजनाओं का लाभ पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।
बैठक में अस्पताल लैब, ब्लड बैंक सहित अन्य शाखाओं के लिए जरूरी उपकरणों की खरीद के लिए 40 लाख की राशि स्वीकृति की गई। उपकरणों के वार्षिक रखरखाव के लिए साढ़े 7 लाख की राशि का प्रावधान किया गया।
तामीरदारों की सुविधा के लिए वाहन पार्किंग की बेहतर सुविधा मुहैया करवाने के लिए टैंडर करने के आदेश जारी किए गए। आपतकालीन दवाओं के लिए 15 लाख की राशि का प्रावधान किया गया।
बैठक मंें निर्णय लिया गया कि एक्स-रे प्लांट को डिजिटल करने के लिए 2 लाख 69 हजार और अस्पताल में अग्निश्मन उपकरण खरीदने के लिए 2 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई। लोगों की सुविधा के लिए आगामी तीन माह के भीतर जन औषधि दुकान खोली जाएगी। कोरोना महामारी को देखते हुए परीक्षण इत्यादि के लिए लिए जाने वाले शुल्क में कोई इजाफा नहीं किया गया है।
बैठक में गवर्निंग परिषद के गैर सरकारी सदस्यों ने अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी को लेकर अपने बहुमूल्य सुझाव दिए।
चिकित्सा अधीक्षक डा.धर्म सिंह ने रोगी कल्याण समिति की विभिन्न गतिविधियों एवं कार्यों का ब्यौरा प्रस्तुत किया।
बैठक में जिला परिषद अध्यक्ष सरला ठाकुर, नगर परिषद अध्यक्ष सुमन ठाकुर, जिला भाजपा अध्यक्ष रणवीर सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. देवेन्द्र शर्मा, व्यापर मंडल के अध्यक्ष राजेश महेंद्रू, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. दिनेश ठाकुर, उप निदेशक आयुर्वेद डा. गोविन्द राम, स्वास्थय विभाग कर्मचारी महासंघ अध्यक्ष अमरजीत शर्मा सहित अन्य सरकारी और गैर सरकारी सदस्य उपस्थित रहे।